Home » राजनीति » Dalai Lama says Doklam standoff not very serious and invokes Hindi Chini Bhai Bhai slogan,
 

डोकलाम विवाद पर दलाई लामा ने तोड़ी चुप्पी

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 August 2017, 16:53 IST

तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा ने बुधवार को चीन के साथ चल रहे सीमा विवाद पर अपनी चुप्पी तोड़ी. उन्होंने कहा  कि 'डोकलाम कोई गंभीर मुद्दा नहीं है.' डोकलाम को गंभीर मसला न मानते हुए उन्होंने कहा कि भारत और चीन दोनों को सहयोग करते हुए साथ-साथ ही रहना होगा

दलाई लामा ने एडिटर्स गिल्ड में आयोजित एक कार्यक्रम में अपने संबोधन में कहा, "डोकलाम मुद्दा केवल चीन द्वारा कुछ कटु शब्दों के प्रयोग और मीडिया द्वारा इसे बढ़ा-चढ़ा कर पेश करने तक ही सीमित है." 

क्या है डोकलाम विवाद

डोकलाम जिसे भूटान में डोलम कहते हैं. करीब 300 वर्ग किलोमीटर का ये इलाका चीन की चुंबी वैली से सटा हुआ है और सिक्किम के नाथुला दर्रे के करीब है. इसलिए इस इलाके को ट्राई जंक्शन के नाम भी जाना जाता है. ये डैगर यानी एक खंजर की तरह का भौगोलिक इलाका है, जो भारत के चिकन नेक यानी सिलिगुड़ी कॉरिडोर की तरफ जाता है. चीन की चुंबी वैली का यहां आखिरी शहर है याटूंग. चीन इसी याटूंग शहर से लेकर विवादित डोलम इलाके तक सड़क बनाना चाहता है.

भूटान को सड़क से ऐतराज

चीन की सड़क बनाने की कोशिश का पहले भूटान ने विरोध जताया और फिर भारतीय सेना ने. भारतीय सैनिकों की इस इलाके में मौजूदगी से चीन हड़बड़ा गया है. चीन को ये बर्दाश्त नहीं हो रहा कि जब विवाद चीन और भूटान के बीच है तो उसमें भारत सीधे तौर से दखलअंदाजी क्यों कर रहा है. पिछले महीने की 16 जून से भारत और चीन की सेना के बीच गतिरोध जारी है.

डोकलाम गतिरोध के अलावा दलाई लामा ने लोकतंत्र की बात करते हुए भारत की काफी तारीफ भी की. उन्होंने भारत के लोकतांत्रिक मूल्यों की प्रशंसा करते हुए उम्मीद जताई कि शायद एक दिन चीन भी लोकतांत्रिक व्यवस्था को अपना लेगा.

First published: 9 August 2017, 16:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी