Home » राजनीति » delhi cm arvind kejriwal and union minister arun jaitely met happily in dinner session of gst council they fighting defamation case in court
 

जब केजरीवाल के सामने आए अरुण जेटली तो हुआ कुछ ऐसा कि दंग रह गए लोग

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 January 2018, 12:33 IST

दिल्ली में गुरुवार की शाम एक बहुत ही आश्चर्यजनक चीज देखने को मिली, जब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा दिए गए डिनर पार्टी में वित्त मंत्री अरुण जेटली पहुंच गए. इसके बाद दोनों मानहानि विवाद भुलाकर पास में बैठे. उनके बीच खूब सारी बातचीत हुई और दोनों के चेहरों पर मुस्कराहट दिख रही थी. इस दुर्लभ संयोग को देखकर डिनर में शामिल अतिथि भी काफी अच्छा महसूस कर रहे थे.

दरअसल गुरुवार को दिल्ली में जीएसटी कौंसिल की बैठक थी, जो शाम देर तक चली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जीएसटी कौंसिल की बैठक में आए सभी सदस्यों के लिए दिल्ली के मशहूर फाइव सेंसेज गार्डन में डिनर आयोजित किया था. केजरीवाल सीधे डिनर वेन्यू पर पहुंच गए थे और उन्होंने मनीष सिसोदिया को जिम्मेदारी दी थी कि वे जीएसटी कौंसिल के सदस्यों को लेकर वहां पहुंचें.

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली घर जाने की तैयारी कर रहे थे, लेकिन सिसोदिया ने उनसे भी डिनर में चलने का अनुरोध किया. जेटली ने अपने जूनियर मंत्री शिव प्रताप शुक्ला से पूछा कि क्या उन्होंने गार्डन (डिनर आयोजन स्थल) देखा है? शुक्ला ने कहा नहीं, लेकिन उन्होंने कहा कि वे भी डिनर में चलने को तैयार हैं.

इसके बाद वित्त मंत्री केजरीवाल के डिनर में पहुंचे. सभी लोगों को यह देखकर काफी अच्छा लगा, क्योंकि मानहानि मामले में दोनों नेताओं के बीच बनी कड़वाहट किसी से छिपी नहीं है. इस डिनर के बारे में जीएसटी कौंसिल और वित्त मंत्री के मीडिया प्रभारियों की तरफ से कोई जानकारी शेयर नहीं की गई, लेकिन आम आदमी पार्टी के ट्विटर हैंडल पर इसकी कई अच्छी तस्वीरें साझा की गई हैं.

 

इन तस्वीरों में दिख रहा है कि जेटली और केजरीवाल बिल्कुल पास में बैठे हैं. ठंड से बचने के लिए अरुण जेटली एक सुनहरे रंग की शॉल ओढ़कर पहुंचे थे. उन्होंने केजरीवाल से बात तो बहुत कम की, लेकिन दोनों के चेहरे पर मुस्कराहट दिख रही थी.

डिनर में केजरीवाल के साथ डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के अलावा दिल्ली के खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री इमरान हुसैन भी थे. दिल्ली सरकार ने सभी अतिथियों को आयोजन स्थल तक पहुंचाने के लिए 8 लग्जरी बसों की भी व्यवस्था की थी. कई अतिथियों ने तो ट्रैफिक जाम और देरी से बचने के लिए मेट्रो, फिर कैब का भी सहारा लिया.

गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी के नेताओं ने DDCA में अरुण जेटली के अध्यक्ष रहने के दौरान भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था, जिस पर अरुण जेटली ने 10 करोड़ रुपये की मानहानि का दावा किया है. अरुण जेटली ने केजरीवाल के अलावा के आशुतोष, कुमार विश्वास, संजय सिंह, राघव चड्ढा और दीपक बाजपेयी के खिलाफ मानहानि का मुकदमा किया है.

First published: 19 January 2018, 12:33 IST
 
अगली कहानी