Home » राजनीति » Opposition demands resolution in parliament on people dying in queue due to Note Ban
 

नोटबंदी: 23 नवंबर को 200 सांसद देंगे धरना, जानिए टकराव की असली वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 November 2016, 12:22 IST
(राज्यसभा)

नोटबंदी के मुद्दे पर संसद में विपक्ष का हंगामा जारी है. शीतकालीन सत्र के दूसरे हफ्ते की शुरुआत हंगामे के साथ हुई है. संसद के दोनों सदनों में विपक्ष ने इस मुद्दे पर हंगामा मचाया.

राज्यसभा में सीपीएम नेता सीताराम येचुरी ने कहा, "बहस बाद में कीजिएगा, लेकिन पहले उन लोगों को हमारी श्रद्धांजलि स्वीकार कीजिए, जिन्होंने कतार में लगने के दौरान अपनी जान गंवाई है. काम करते हुए भी कई बैंक के कर्मचारियों की मौत हुई है."

विपक्ष ने इस मुद्दे पर संसद में प्रस्ताव की मांग की, जिसे ठुकरा दिया गया. वहीं वित्त मंत्री अरुण जेटली का कहना है कि विपक्ष इस मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार नहीं है. संसद की कार्यवाही में बाधा डालने के लिए वह रोज नए-नए पैंतरे आजमाता रहता है.

नरेंद्र मोदी शर्म करो के नारे

राज्यसभा में हंगामे के दौरान विपक्ष ने नरेंद्र मोदी शर्म करो के नारे लगाए. विपक्ष ने कतार में लगकर जान गंवाने वाले लोगों को श्रद्धांजलि देने की मांग की. 

लोकसभा की कार्यवाही के दौरान भी विपक्ष ने नोटबंदी के मुद्दे पर कार्यवाही को बाधित किया. पीएम के बयान की मांग करते हुए संसद में विपक्षी सदस्यों ने हंगामा मचाया. विपक्षी सांसदों के रवैए से नाराज़ लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा कि विपक्ष टेलीविजन पर दिखना चाहता है. 

पक्ष-विपक्ष में इस वजह से ठनी

लोकसभा में विपक्ष नियम 56 के तहत चर्चा चाहता है, जिसमें बहस के बाद वोटिंग होती है. इसके उलट सरकार नियम 193 के तहत चर्चा कराना चाहती है, जिसमें वोटिंग का प्रावधान नहीं है.

इसके साथ ही राज्यसभा में विपक्ष पीएम नरेंद्र मोदी से नोटबंदी पर जवाब चाहता है, जबकि केंद्र सरकार का कहना है कि संबंधित मंत्री अरुण जेटली ही इस पर जवाब देंगे.

नोटबंदी पर विपक्षी सदस्यों ने एक बैठक भी की, जिसमें कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा, टीएमसी सांसद डेरेक ओब्रायन, बीएसपी के सतीश चंद्र मिश्रा, आरजेडी के जयप्रकाश नारायण यादव और जेडीयू के शरद यादव शामिल हुए. यह बैठक लोकसभा में नेता विपक्ष मल्लिकार्जुन खडगे के कमरे में हुई.

टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन का कहना है, "विपक्षी पार्टियों ने एक मत से निर्णय लिया है कि 200 सांसद बुधवार यानी 23 अक्तूबर को संसद भवन में स्थित गांधी प्रतिमा के सामने धरना देंगे."

First published: 21 November 2016, 12:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी