Home » राजनीति » Digvijaya singh: Disappointed over Ramdev’s name missing from ‘fake baba’ list by the The Akhil Bharatiya Akhara Parishad.
 

फर्जी बाबाओं की लिस्ट में रामदेव का नाम ना देखकर भड़के दिग्विजय, ट्वीट कर उठाए सवाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 September 2017, 10:55 IST

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद द्वारा रविवार को 14 फर्जी बाबाओं की सूची जारी किए जाने के बाद से लगातार इस पर बहस रही है. सोमवार को मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने भी इस लिस्ट पर सवाल उठाए.

दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर अखाड़ा परिषद से कहा कि, इस सूची में बाबा रामदेव का नाम न देखकर निराशा हुई.

 

दिग्विजय सिंह ने सोमवार को अखाड़ा परिषद की सूची में बाबा रामदेव का नाम न होने पर एक के बाद एक चार ट्वीट किए, साथ में फर्जी बाबाओं की सूची भी लगाई.

उन्होंने लिखा कि,

'सम्माननीय अखाड़ा परिषद ने इस सूची में बाबा रामदेव का नाम नहीं रखा. निराशा हुई. पूरे देश को ठग रहा है. नकली को असली बताकर बेच रहा है.'

 

उन्होंने अपने एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, "मैं सम्माननीय अखाड़ा परिषद से पूछना चाहता हूं, क्या मनु स्मृति में किसी भगवा वस्त्र पहनने वाले को व्यापार करने की स्वीकृति है?"

दिग्विजय सिंह ने इसके आगे लिखा है, "मैं सम्माननीय अखाड़ा परिषद से विनम्र अनुरोध करूंगा कि वे इस सूची में बाबा रामदेव का नाम भी जोडें,

दिग्विजय सिंह ने इसस आगे लिखा कि अगर इस सूची में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद उनका नाम नहीं जोड़ेगी ,तो वो मानेंगे कि, वे भी रामदेव के धन से प्रभावित हो गए.

First published: 12 September 2017, 10:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी