Home » राजनीति » DMK asks for clarification on Amit Shah's one nation, one language statement
 

अमित शाह के 'एक राष्ट्र, एक भाषा' वाले बयान पर DMK ने PM मोदी से मांगी सफाई

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 September 2019, 15:24 IST
HINDI

देश में एक बार फिर से हिंदी भाषा को लेकर विवाद छिड़ गया है. द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (DMK) के प्रमुख एमके स्टालिन का कहना है कि यदि प्रधानमंत्री मोदी गृह मंत्री अमित शाह के 'एक राष्ट्र, एक भाषा' वाले बयान पर अपनी राय स्पष्ट नहीं करते हैं तो उनकी पार्टी इसका विरोध करेगी. एएनआई के मुताबिक स्टालिन ने कहा, "हम लगातार हिंदी थोपने का विरोध कर रहे हैं. आज अमित शाह द्वारा की गई टिप्पणी ने हमें झटका दिया है. यह देश की एकता को प्रभावित करेगा. हम मांग करते हैं कि वह अपना बयान वापस ले.” स्टालिन ने कहा कि उनकी पार्टी सोमवार को अपनी कार्यकारी पार्टी की बैठक में इस मामले पर चर्चा करेगी.  एक ट्वीट में स्टालिन ने भारतीय जनता पार्टी से एक भाषा के विचार को वापस लेने के लिए कहा.

 

कांग्रेस नेता बृजेश कलप्पा ने कहा "हम एक एकता प्रणाली नहीं हैं, हम एक संघीय प्रणाली हैं. हम कई भाषाओं के देश हैं. यह स्वीकार्य नहीं है." पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी शाह का विरोध किया. उन्होंने कहा "हमें सभी भाषाओं और संस्कृतियों का समान रूप से सम्मान करना चाहिए, उसने एक ट्वीट में कहा "हम कई भाषाएं सीख सकते हैं लेकिन हमें अपनी मातृ भाषा को कभी नहीं भूलना चाहिए."

अमित शाह ने क्या कहा था ?

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को कहा कि वैश्विक स्तर पर भारत की पहचान के लिए पूरे देश के लिए एक भाषा बेहद महत्वपूर्ण है. शाह ने ट्वीट किया ''भारत विभिन्न भाषाओं का देश है और हर भाषा का अपना महत्व है परन्तु पूरे देश की एक भाषा होना अत्यंत आवश्यक है जो विश्व में भारत की पहचान बने. आज देश को एकता की डोर में बाँधने का काम अगर कोई एक भाषा कर सकती है तो वो सर्वाधिक बोले जाने वाली हिंदी भाषा ही है.''

 

शाह ने सभी नागरिकों से अपनी मातृभाषा के उपयोग को बढ़ावा देने और महात्मा गांधी और सरदार वल्लभभाई पटेल के सपनों को पूरा करने के लिए हिंदी का उपयोग करने का आग्रह किया. 14 सितंबर हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है. 1949 में इस दिन संविधान सभा ने हिंदी को भारत की आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाया था. 2011 की जनगणना के अनुसार 43.6% या लगभग 53 करोड़ भारतीयों की मातृभाषा हिंदी है. इसके बाद बंगाली है, जो 8.03% से बहुत पीछे है. विश्व स्तर पर यह दुनिया की चौथी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है.


हिंदी दिवस: गृह मंत्री अमित शाह ने देशवासियों से की ये बड़ी अपील

First published: 14 September 2019, 15:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी