Home » राजनीति » ECI throws opens the challenge to all national & state political parties from 3 June onward: CEC
 

चुनाव आयोग की चुनौती: 3 जून को हमारी EVM हैक करके दिखाओ

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 May 2017, 17:16 IST

चुनाव आयोग ने आज प्रेस काफ्रेंस करके ईवीएम में छेड़छाड़ का आरोप लगा रहे राजनीतिक दलों को EVM हैक करने की चुनौती दी है. चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को आरोप साबित करने के लिए 3 जून की तारीख तय की है.

राजनीतिक दल हैकिंग के लिए पांच राज्यों की चार EVM को चुन सकते हैं. आयोग द्वारा सभी सात राष्ट्रीय दल और 48 राज्य स्तरीय दलों को खुली चुनौती में हिस्सा लेने के लिए बुलाया गया है. 

हर पार्टी को मिलेंगे 4 घंटे

मुख्य निर्वाचन आयुक्त नसीम जैदी ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि हर राजनीतिक दल को ईवीएम हैकिंग के लिए चार घंटे का वक्त दिया जाएगा.

इसके लिए आयोग चुनौती में शामिल होने के इच्छुक दल को हाल ही में संपन्न हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के किसी भी मतदान केंद्र की मशीन के साथ छेड़छाड़ करने का ऑप्शन चुनने के लिए एक हफ्ते का समय भी देगा.

वहीं, चुनौती स्वीकार करने वाले हर राजनीतिक दल को मशीन में गड़बड़ी करने का अपना दावा सही साबित करने के लिए अलग-अलग मौका दिया जाएगा.

EVM और VVPAT का लाइव डेमो

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों में छेड़छाड़ के आरोपों को देखते हुए चुनाव आयोग ने आज एक खास कार्यक्रम में ईवीएम और वीवीपीएटी का डेमो दिया, जहां इनसे जुड़ी सारी आशंकाओं के निपटारे के लिए आयोग ने मशीनों के काम करने के तरीके को दिखाया. 

मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने कहा कि पांच राज्यों में चुनाव के बाद EVM को लेकर शंकाएं उठाई गईं, पर किसी भी पार्टी ने अब तक वोटिंग मशीन से छेड़छाड़ का कोई ठोस सबूत या मटीरियल नहीं दिया है. चुनाव आयोग ने कहा कि EVM के साथ VVPAT के इस्तेमाल से सभी शंकाएं और फैलाये गए भ्रम दूर हो जाएंगे. अगले साल के अंत तक आयोग को सभी VVPAT तैयार मिलेगी.

'सर कृपया मशीन दीजिए' 

इससे पहले बहुजन समाज पार्टी,कांग्रेस, आम आदमी पार्टी और तृणमूल कांग्रेस ने सर्वदलीय बैठक के दौरान ईवीएम में कथित छेड़छाड़ को लेकर चिंता जताई थी. आप ने निर्वाचन आयोग के ईवीएम को हैक कर दिखाने की चुनौती को स्वीकारने का स्वागत किया है, लेकिन 'हैकाथन' पर जोर दिया. पार्टी ने कहा कि मौका मिलने पर वह साबित करके दिखा देगी कि मशीनों को हैक किया जा सकता है.

इस बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दोपहर बाद ट्वीट करते हुए कहा, "सर आपने कभी मशीन उपलब्ध नहीं कराई. कृपया हमें मशीन दीजिए." गौरतलब है कि दिल्ली विधानसभा के विशेष सत्र के दौरान आम आदमी पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज ने ईवीएम से मिलती-जुलती मशीन का लाइव डेमो करते हुए दावा किया कि ईवीएम में छेड़छाड़ की जा सकती है. भारद्वाज ने कहा था कि दुनिया की किसी भी मशीन को हैक किया जा सकता है.
First published: 20 May 2017, 17:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी