Home » राजनीति » Cho Ramaswamy,Editor,Thuglak,Political adviser,Jayalalithaa,J Jayalalithaa,passes away,Chennai,Apollo Hospital,actor,PM Modi,praises,Tamil Nadu,BJP,MP
 

'अम्मा' के राजनीतिक सलाहकार और वरिष्ठ पत्रकार चो रामास्वामी नहीं रहे

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:37 IST
(फाइल फोटो)

मशहूर पत्रकार और तमिलनाडु की दिवंगत पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता के राजनीतिक सलाहकार चो रामास्वामी का 82 साल की उम्र में निधन हो गया है. रविवार को ही जयललिता का रात साढ़े 11 बजे चेन्नई के अपोलो अस्पताल में निधन हुआ था.

जयललिता के करीबी श्रीनिवास अय्यर रामास्वामी ने भी इसी अस्पताल में अंतिम सांस ली. लंबे अरसे से उनका इलाज चल रहा था. 74 दिनों तक चेन्नई के अपोलो अस्पताल में भर्ती रहीं जयललिता का भी 5 दिसंबर को निधन हो गया था. मरीना बीच पर मंगलवार शाम उनको पूरे राजकीय सम्मान के साथ दफनाया गया.

फाइल फोटो

'तुगलक' के निडर संपादक के रूप में मशहूर

अभिनेता, संपादक, पूर्व सांसद और राजनीतिक विश्लेषक चो रामास्वामी की गिनती जयललिता के करीबियों में भी थी. चो ने कई फिल्मों में अभिनय भी किया. दक्षिण के सुपरस्टार रजनीकांत और कमल हासन जैसे बड़े अभिनेताओं के साथ उन्होंने काम किया.

चो रामास्वामी का चेन्नई के अपोलो अस्पताल में लंबे अरसे से इलाज चल रहा था. रामास्वामी ने बुधवार सुबह 4 बजकर 15 मिनट पर अंतिम सांस ली.  

वह राजनैतिक पत्रिका 'तुगलक' के संस्थापक और संपादक थे. चो रामास्वामी राज्य या केंद्र सरकार की आलोचना करने से कभी नहीं डरने के लिए मशहूर थे. 

जयललिता अक्सर लेती थीं सलाह

वह भाजपा के पूर्व राज्यसभा सदस्य भी थे. कई राजनेताओं से चो रामास्वामी के गहरे ताल्लुकात थे. तमिलनाडु की दिवंगत मुख्यमंत्री जयललिता अक्सर उनसे राय लिया किया करती थीं.

इस साल उनकी जब तबीयत खराब हुई थी, तो तमिलनाडु की दिवंगत पूर्व सीएम जयललिता के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी उनका हाल जानने के लिए पहुंचे थे.

पीएम मोदी ने जताया गहरा दुख

रामास्वामी के परिवार में पत्नी, एक बेटा और बेटी हैं. चो रामास्वामी भ्रष्टाचार के खिलाफ बोलने के लिए चर्चित रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर गहरा दुख जताया है.

पीएम मोदी ने अपने ट्विटर पेज पर एक वीडियो लिंक भी पोस्ट किया है, जिसमें चो रामास्वामी उनकी तारीफ कर रहे हैं. इसमें चो पीएम मोदी को भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में मौत का सौदागर कहकर संबोधित कर रहे हैं.

पीएम मोदी ने ट्वीट किया, "चो रामास्वामी एक बहुआयामी व्यक्तित्व, प्रकांड विद्वान, महान राष्ट्रवादी और निडर आवाज़ वाली शख्सियत थे, जिनका लोग सम्मान करने के साथ ही उनसे प्रेरणा भी लेते थे."

पीएम मोदी ने लिखा, "इन सबसे ऊपर चो रामास्वामी मेरे एक प्रिय मित्र थे. मैं उनके सालाना रीडर्स मीटिंग में जाता था. जो कि संपादक और पाठक के बीच संबंधों का अभूतपूर्व आयोजन होता था."

उनकी तारीफ करते हुए पीएम मोदी ने लिखा, "चो रामास्वामी पैनी नजर वाले, स्पष्टवादी और बुद्धिमान शख्सियत थे. उनके निधन पर गहरा दुख है. उनके परिवार और तुगलक के पाठकों के प्रति मेरी संवेदना."

First published: 7 December 2016, 9:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी