Home » राजनीति » rahul ghandhi tweet BJP lying factory at work
 

Facebook डेटा लीक मामले में राहुल का ट्वीट- भाजपा झूठ फैलाने वाली फैक्टरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 March 2018, 13:01 IST

भारत की राजनीति में फेसबुक डेटा लीक का मामला सामने आते ही देश की की राजनीति में उथल-पथल होने लगी है. इस मामले को लेकर देश की शीर्ष पार्टियां बीजेपी और कांग्रेस एक-दूसरे के उपर आरोप लगा रही है. दोनों पार्टियों के एक-दूसरे पर यही आरोप हैं कि किस पार्टी ने फेसबुक डेटा का इस्तेमाल किया और किस पार्टी ने नहीं किया.

फेसबुक डेटा मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए ट्वीट कर बीजेपी को झूठा करार दिया है, राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में कहा कि बीजेपी झूठ तैयार करने वाली फैक्टरी है. एक पत्रकार ने इस खबर को ब्रेक किया कि कैसे कैम्ब्रि‍ज एनालिटिका को 2012 में कांग्रेस को हराने के लिए भुगतान किया गया. और अब बीजेपी अपने केंद्रीय मंत्रियों को झूठ बोलने के लिए लगा दिया है और सीए के साथ कांग्रेस के जुड़ने की झूठी खबर फैला रहे हैं.

साल 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले कैम्ब्रि‍ज एनालिटिका की पैरेंट कंपनी स्ट्रेटेजिक कम्युनिकेशंस लेबोरेटरीज (SCL) ने भारत में अपना बेस बनाने का निर्णय लिया था. इस मामले को लेकर एक खुलासा यह भी हुआ है कि गाजियाबाद के इंदिरापुरम की शिप्रा सन सिटी के एक छोटे से फ्लैट से भारत में कैम्ब्रि‍ज एनालिटिका (CA) के कारोबार का संचालन तत्कालीन सीईओ अलेक्जैंडर निक्स और उनके भारतीय साझेदार मिलकर करते थे.

ये भी पढ़ें- भाजपा का फर्जी ख़बरों का कारखाना आज एक और नकली उत्पाद पेश कर रहा है : कांग्रेस

अगर साल 2011 की बात की जाए तो सीए के तत्कालीन सीईओ ब्रिटेन के अलेक्जैंडर निक्स ने एक और व्यक्ति अलेक्जैंडर ओकेज के साथ मिलकर भारत में राजनीतिक दलों के लिए डेटा कलेक्शन का काम शुरू किया और उन्होंने अवनीश-अमरीश की कंपनी ओवलेनो के साथ पार्टनरशिप की थी.

अगर इस कंपनी के बारे में बताएं तो कंपनी ने डेटा के आधार पर राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप को जिताने के लिए माहौल बनाया और डेटा लीक करने वाली कंपनी कैम्ब्रिज एनालिटिका पर लगभग 5 करोड़ फेसबुक यूजर्स की निजी जानकारी चुराने के आरोप लगे हैं.

First published: 23 March 2018, 14:58 IST
 
अगली कहानी