Home » राजनीति » FM Arun Jaitley talks about RS uproar over DeMonetisation
 

जेटली ने बोला विपक्ष पर हमला, कहा- कालाधन जुटाने वाले कर रहे हैं नोटबंदी का विरोध

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 November 2016, 8:28 IST
(फाइल फोटो )

नोटबंदी पर आज राज्यसभा में विपक्ष ने सरकार पर आरोप लगाते हुए जोरदार हंगामा किया जिसके बाद सदन की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित करनी पड़ी. कार्यवाही स्थगित होने के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने विपक्ष पर हमला बोला.

जेटली ने कहा कि विपक्ष ने जो प्रस्ताव दिया था चर्चा के लिए,सरकार ने स्वीकार किया कि हम चर्चा के लिए तैयार है. विपक्ष का प्रमुख प्रस्ताव था कि पीएम चर्चा में रहे और फिर उन्होंने बहाने ढूंढने शुरु कर दिए. चर्चा के दौरान महसूस हुआ कि विपक्ष की कोई तैयारी नहीं थी, वो बस चाहते थे कि पीएम चर्चा में शामिल हों.

जेटली ने कहा कि चर्चा के पहले दिन विपक्ष ने किसी तरह की शर्त नहीं रखी थी. लेकिन दूसरे दिन से विपक्ष की तरफ से इस तरह के प्रस्ताव आने लगे जिससे साफ हो गया कि वो बहस करना ही नहीं चाहते हैं.

उन्‍होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि वो राजनीतिक पार्टियां जो एक समय सारे घोटालों में शामिल रही हैं, वो आज विमुद्रीकरण का विरोध कर रही हैं. जेटली ने कहा कि पूरा देश जानता है कि वर्ष 2004-2014 के दौरान सबसे ज्‍यादा घोटाले हुए और सबसे ज्‍यादा कालाधन जुटाया गया.

जेटली ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के गुरुवार को राज्‍यसभा में दिए गए भाषण का जिक्र करते हुए कहा कि जो घोटालों को बहुत बड़ी गलती नहीं बता सके, वो आज विमुद्रीकरण के फैसले के ऊपर उंगली उठा रहे हैं

जेटली ने बीएसपी पर हमला बोलते हुए कहा कि चुनाव होने दीजिए, उनकी पार्टी की दशा उन्हें अपने आप पता चल जाएगी. जो सरकारें देश और देश की अर्थव्यवस्था के हित में कदम उठाती हैं, उन्हें आलोचना का डर नहीं सताता है. यह सरकार पिछली सरकार से बिल्कुल अलग है, पिछली सरकार की तरह यह नीतिगत अपंगता का शिकार हमारी सरकार नहीं है, हमारी सरकार में कड़वे और कड़े कदम उठाने की हिम्मत है.

First published: 25 November 2016, 8:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी