Home » राजनीति » Former SP Spokes Person Pankhuri Pathak Assaulted In Atrauli Aligarh And Accuses Bajarang Dal Activists
 

सपा की पूर्व प्‌रवक्ता पंखुड़ी पाठक पर जानलेवा हमला, बजरंग दल के कार्यकर्ताओं पर लगाया आरोप

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 October 2018, 11:07 IST

समाजवादी पार्टी की पूर्व प्रवक्ता और सोशल ऐक्टिविस्ट पंखुड़ी पाठक पर उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के अतरौली में जनलेवा हमला किया गया. ये हमला उस वक्त किया गया जब वो शनिवार को पुलिस एनकाउंटर में मारे गए मुस्तकीम और नौशाद के परिजनों से मिलने जा रही थीं.

घटना के बाद पंखुड़ी पाठक ने आरोप लगाया कि बजरंग दल के सदस्यों ने उन पर हमला किया. इस संबंध में उन्होंने ट्वीट किया कि बजरंग दल ने उनपर हमला किया है. उन्होंने कहा कि, पहले उन्होंने हमें भड़काने की कोशिश की लेकिन जब ऐसा नहीं हुआ तो उन्होंने हमला कर दिया. हमला पूर्व नियोजित था. उन्होंने कहा कि क्या उत्तर प्रदेश पुलिस, योगी आदित्यनाथ और पुलिस महानिदेशक में इन लोगों को गिरफ्तार करने की हिम्मत है. बता दें कि, बीते दिनों पंखुड़ी ने सपा के प्रवक्ता पद से अपना नाता तोड़ लिया था.

उन्होंने अतरौली से लौटकर मीडिया के सामने कहा कि उन पर और उनकी टीम के कम से कम तीन सदस्यों पर कथित रूप से हमला किया गया. हमला कथित बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने किया, जिसमें हम घायल हो गये. हमला पुलिस की मौजूदगी में किया गया और उनकी कारों पर पथराव भी किया गया.

पंखुडी ने कहा कि हमें दोबारा अतरौली ना आने की धमकी दी गई है. हम इस मामले की सूचना अलीगढ पुलिस को नहीं दे रहे हैं, क्योंकि हमें उस पर भरोसा नहीं रह गया. हम दिल्ली लौट रहे हैं और आगे की कार्रवाई वहीं तय करेंगे.

घटना के बाद पंखुड़ी पाठक ने ट्विटर पर एक पोस्ट लिखा, ”आज ‘हिंदुत्व’ को क़रीब से देखा .. जब अपनी राजनीति के लिए एक भगवाधारी भीड़ ने एक हिन्दू लड़की और कई हिन्दू लड़कों पर जानलेवा हमला किया. इनका हिंदुत्व इनकी राजनीति तक सीमित है. बाकी हर हिन्दू इनके लिए बस शिकार है जिसकी हत्या यह अपने राजनैतिक फायदे के लिए कर सकते हैं.” उन्होंने कहा कि कथित पुलिस मुठभेड़ में मारे गये लोगों के परिवारों से मिलने का हमारा मकसद सिर्फ यही था कि हम पता लगा सकें कि मानवीय आधार पर उन्हें किसी उत्पीड़न का सामना तो नहीं करना पड़ रहा है.

ये भी पढ़ें- जयललिता की मौत मामले में हुआ चौंकाने वाला खुलासा, खुद पुलिस के कहने पर हुआ था ये काम

First published: 7 October 2018, 10:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी