Home » राजनीति » Former union minister Krishna Kumar leavs congress and join BJP
 

कांग्रेस को एक ओर झटका, प्रियंका चतुर्वेदी के बाद इस बड़े नेता ने छोड़ी पार्टी

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 April 2019, 9:12 IST

प्रियांका चतुर्वेदी के बाद कांग्रेस के एक और बड़े नेता ने पार्टी का दाम छोड़कर बीजेपी की शरण ले ली है. ऐसे में कांग्रेस के लिए एक ओर बड़ी चुनौती पैदा हो गई है. दरअसल, पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. एस कृष्णा कुमार ने कांग्रेस छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया है. वह शनिवार को बीजेपी नेता शहनवाज हुसैन और अनिल बलूनी की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल हो गए.

बीजेपी में शामिल होने के बाद उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, "एक विकासात्मक कार्यकर्ता के रूप में मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ज्ञान की गहराई और राजनीतिक इच्छा शक्ति की सराहना की है. मैंने अपना बाकी जीवन नरेंद्र मोदी के सैनिक के रूप में समर्पित करने का फैसला किया है.”

दरअसल, पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. एस कृष्णा कुमार ने कांग्रेस छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया है. वह शनिवार को बीजेपी नेता शहनवाज हुसैन और अनिल बलूनी की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल हो गए. बीजेपी में शामिल होने के बाद उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, "एक विकासात्मक कार्यकर्ता के रूप में मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ज्ञान की गहराई और राजनीतिक इच्छा शक्ति की सराहना की है. मैंने अपना बाकी जीवन नरेंद्र मोदी के सैनिक के रूप में समर्पित करने का फैसला किया है.”

उन्होंने कहा कि, "मुझे लगता है कि पीएम मोदी को पांच साल के लिए नहीं, बल्कि दस साल के लिए लोग जनादेश दें, ताकि वह भारत को विश्व में टॉप पर ले जाएं.” यही नहीं उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि, “मैं तीन बार कांग्रेस सांसद रहा हूं, लेकिन यूपीए के समय में मैं सोनिया गांधी के नेतृत्व और अब मैं उनके बेटे के नेतृत्व के खिलाफ हूं. मैं राजीव गांधी का काफी करीबी था, लेकिन मुझे लगता है कि उनके बाद देशभक्त प्रधानमंत्री को इस देश को चलाना चाहिए."

बता दें, पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. एस कृष्णा कुमार से पहले कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने कांग्रेस को अलविदा कह दिया. कांग्रेस छोड़ने के बाद प्रियंका चतुर्वेदी शिवसेना में शामिल हो गई और मुंबई के लोगों की सेवा करने की बात कहा. बताया जा रहा है कि प्रियंका चतुर्वेदी कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बदसलूकी और पार्टी नेतृत्व की ओर से उनकी अनदेखी से नाराज थी. प्रियंका चाहती थी हैं कांग्रेस उन्हें मथुरा से बीजेपी उम्मीदवार हेमा मालिनी के खिलाफ चुनाव मैदान में उतारे.

सिद्धू ने की मुस्लिम वोटर्स से अपील तो चुनाव आयोग ने मांगा जवाब, जारी किया कारण बताओ नोटिस

First published: 21 April 2019, 9:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी