Home » राजनीति » Gauri Lankesh murder: Sri Ram Sene chief Pramod Muthalik says Parashuram Waghmare no connection with his orgnization
 

गौरी लंकेश हत्याकांड : श्रीराम सेने प्रमुख बोले- परशुराम वाघमारे का उनसे कोई लेना-देना नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 June 2018, 16:03 IST

श्री राम सेने प्रमुख प्रमोद मुथालिक का कहना है पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के आरोप में गिरफ्तार परशुराम वाघमारे का उनके संगठन से कोई लेना देना नहीं है. प्रमोद मुथालिक का कहना है कि 'श्री राम सेना का परशुराम से कोई लेना देना नहीं है.मुझे नहीं पता कि उन्होंने SIT (विशेष जांच दल) के सामने क्या कहा? मेरे साथ बहुत से लोगों ने फोटो खिंचवाए है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वो हमारे संगठन का कार्यकर्ता है.'

 

मीडिया में यह खबर आने के बाद कि परशुराम वाघमारे श्रीराम सेने का कार्यकर्ता है, के बाद प्रमोद मुथालिक का यह बयान आया है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सूत्रों का कहना है कि बाघमारे ने एसआईटी के सामने अपने गुनाह को कबूल लिया है. एसआईटी के सामने वाघमारे ने कहा, 'मुझे मई 2017 में कहा गया था कि अपने धर्म को बचाने के लिए मुझे किसी को मारना है. मैं तैयार हो गया. मुझे पता नहीं था कि वह कौन हैं लेकिन अब मुझे लग रहा है उन्हें मारना नहीं चाहिए था.

 

एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार एसआईटी के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘वाघमारे ने गौरी को गोली मारी और फॉरेंसिक जांच से पुष्टि होती है कि (तर्कवादी) गोविंद पानसरे, एमएम कलबुर्गी और गौरी की हत्या एक ही हथियार से की गई.’ रिपोर्ट्स के अनुसार वाघमारे ने यह भी खुलासा किया कि उसे एयरगन चलाने की ट्रेनिंग के लिए 3 सितंबर को बेंगलुरु ले जाया गया था.

उसने कहा 'मुझे पहले एक घर में ले जाया गया. वहां से मुझे बाइक पर एक आदमी के साथ गौरी का घर दिखाने के लिए भेजा गया. अगले दिन मुझे दूसरे रूम में ले जाया गया, जहां से हम फिर से गौरी के घर गए। मुझे उसी दिन हत्या करने को कहा गया लेकिन जब तक हम वहां पहुंचे तब तक गौरी घर के अंदर जा चुकी थीं.'

ये भी पढ़ें : क्या श्रीराम सेने का कार्यकर्त्ता है गौरी लंकेश को गोली मारने वाला शख्स ?

First published: 16 June 2018, 16:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी