Home » राजनीति » gorakhpur: congress leader gulam nabi azad demands the resignation of up cm adityanath after 30 children have died for the disruption of oxy
 

गोरखपुर: मासूमों की मौत पर कांग्रेस ने मांगा योगी का इस्तीफ़ा

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 August 2017, 12:19 IST

गोरखपुर के सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से हुई 33 बच्चों की मौत पर देश में राजनीतिक भूचाल आ गया है. इस घटना के बाद योगी सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गई है. कांग्रेस ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से घटना की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफे की मांग की है. 

कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के कहने पर कांग्रेस की तरफ़ से गुलाम नबी आजाद, राज बब्बर, संजय सिंह, प्रमोद तिवारी और आरपीएन सिंह मरीजों से मिले. इस दौरान कांग्रेस नेताओं ने घटना के बारे में अस्पताल के डॉक्टरों से भी बातचीत की.

अस्पताल के अपने दौरे के बाद गुलाम नबी आजाद ने संवाददाताओं से कहा कि, ये घटना योगी सरकार की नाकामी का नतीजा है. उन्होंने कहा कि योगी सरकार की लापरवाही से ये दर्दनाक हादसा हुआ है. इस घटना की जिम्मेदारी लेते हुए मुख्यमंत्री समेत स्वास्थ्य मंत्री और अन्य जिम्मेदार लोगों को इस्तीफा देना चाहिए.

'जनता से माफी मांगें योगी'

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि ये बहुत दुखद घटना है और इसके लिए यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को राज्य की जनता से माफी मांगनी चाहिए. उन्होंने कहा कि स्थानीय अखबारों में अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी की खबर लगातार चल रही थी. उन्होंने कहा कि इस घटना की जांच के लिए सांसदों की एक टीम बने.

गौरतलब है कि गुरुवार रात ऑक्सीजन की कमी से मरने वाले 13 बच्चे एनएनयू वार्ड और 17 इंसेफलाइटिस वार्ड में भर्ती थे. बताया जा रहा है कि 69 लाख रुपये का भुगतान न होने की वजह से ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली फर्म ने ऑक्सीजन की सप्लाई गुरुवार की रात से ठप कर दी थी.

5 दिन में 63 मौतें

खबरों के मुताबिक पिछले 5 दिनों में अस्पताल में 63 बच्चों की मौत हो चुकी है. हालांकि अस्पताल प्रशासन ने ऑक्सीजन की कमी से इनकार किया है.

हालांकि उत्तर प्रदेश सरकार ने इन आरोपों को खारिज कर दिया है.राज्य के सूचना विभाग ने देर शाम जारी बयान में कहा कि कुछ टीवी चैनलों द्वारा बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 30 बच्चों की मौत की खबरें दिखाई जा रही हैं जो भ्रामक हैं.

सरकार का कहना है कि, मेडिकल कॉलेज में भर्ती 7 मरीजों की विभिन्न चिकित्सीय कारणों से 11 अगस्त को मृत्यु हुई. घटना की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए गए हैं. वहीं डीएम ने 5 सदस्यीय टीम गठित की है.

First published: 12 August 2017, 12:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी