Home » राजनीति » GST: Rahul Gandhi said India deserves gst roll out
 

राहुल गांधी: भारत से GST वापस लिया जाना चाहिए

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 June 2017, 16:30 IST
राहुल गांधी/ फाइल फोटो

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने जीएसटी को देश की करोड़ों जनता और कारोबारियों के खिलाफ बताया है. राहुल ने सिलसिलेवार चार ट्वीट करते हुए जीएसटी यानी वस्तु एवं सेवा कर को लागू किए जाने का विरोध किया है. 

राहुल ने अपने ट्वीट में कहा, "एक सुधार जिसमें काफी क्षमता थी, उसे खुद का प्रचार करने के लिए आधे-अधूरे तरीके से हड़बड़ी में लाया जा रहा है." कांग्रेस उपाध्यक्ष ने आगे कहा, "भारत से जीएसटी वापस लिए जाने की ज़रूरत है, क्योंकि यह देश के करोड़ों आम नागरिकों, छोटे व्यापार और कारोबारियों को दर्द देने वाला है."

राहुल ने अपने तीसरे ट्वीट में लिखा, "नोटबंदी के विपरीत जीएसटी एक ऐसा सुधार है, जो कांग्रेस की बदौलत आया है और हम शुरुआत से इसका समर्थन करते रहे हैं. लेकिन नोटबंदी की ही तरह जीएसटी को एक अक्षम और संवेदनहीन सरकार लागू कर रही है. इस सरकार के पास न तो दूरदृष्टि और कार्ययोजना है, न ही एक एक संस्थान के तौर पर इसको लाने से पहले कोई तैयारी की गई है."

जीएसटी के जश्न से दूर कांग्रेस

एक जुलाई से लागू हो रहे जीएसटी को मोदी सरकार एक देश एक टैक्स के रूप में प्रचारित कर रही है. संसद भवन के सेंट्रल हॉल में इसके लिए आधी रात में विशेष सत्र रखा गया है. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी एक ऐप के जरिए रात को 12 बजे जीएसटी की लॉन्चिंग करेंगे.

हालांकि कांग्रेस ने पहले ही जीएसटी के जश्न का बायकॉट करने का फैसला लिया है. कांग्रेस ने इसे संसद के सेंट्रल हॉल से लॉन्च करने को लेकर भी सवाल उठाए हैं. इससे पहले अब तक तीन बार सेंट्रल हॉल में आधी रात को विशेष सत्र बुलाया गया था- 1947 में आजादी मिलते वक्त, 1972 में आज़ादी के 25 साल पर और 1997 में आज़ादी की गोल्डेन जुबली पर.

First published: 30 June 2017, 16:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी