Home » राजनीति » GST: Yogi Government Cabinet Minister Rampati Shastri fails to spell out the full form of GST
 

योगी के मंत्री GST के Full Form पर बने Fool

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 June 2017, 15:11 IST
यूपी के समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री/ एएनआई

जीएसटी का जहां एक तरफ बीजेपी ने देश भर में ढिंढोरा  पीटा रखा है. वहीं आबादी के लिहाज से देश के सबसे बड़े सूबे से जीएसटी को लेकर ऐसी ख़बर आई, जो वाकई शर्मनाक है. भाजपा ने अपने मंत्रियों से कहा है कि गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) यानी वस्तु एवं सेवा कर से होने वाले फायदों के बारे में जनता को जागरूक करें.

लेकिन यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री रमापति शास्त्री तो फायदे छोड़िए यही नहीं जानते है जीएसटी आख़िर बला क्या है? दरअसल यूपी के समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री योगी सरकार के 100 दिन के कामकाज का ब्यौरा लेकर महाराजगंज गए थे. इस दौरान उन्हें GST से होने वाले लाभ के बारे में भी बताना था.

'नहीं-नहीं पता है'

मीडिया से बातचीत के दौरान किसी पत्रकार ने मंत्री जी से जीएसटी की फुल फॉर्म पूछ लिया. सवाल सुनते ही मंत्री रमापति शास्त्री के चेहरे की हवाइयां उड़ गईं. लाख कोशिश के बावजूद मंत्री जी फंस गए. न तो जीएसटी का फुल फॉर्म वे बता सके न ही इसके मायने उन्हें पता थे.

इस दौरान किसी ने पीछे से कहा- गवर्मेंट सर्विस टैक्स. इस दौरान किसी ने कहा कि नहीं पता तो कोई बात नहीं. हालांकि पूरी बातचीत के दौरान मंत्री जी आत्मविश्वास से कहते रहे कि नहीं-नहीं पता है. यानी कुल मिलाकर जीएसटी के फुल फॉर्म ने नेताजी को फूल यानी बेवकूफ बना डाला और उनकी बोलती ही बंद हो गई.

First published: 30 June 2017, 15:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी