Home » राजनीति » Gujarat CM Vijay Rupani Says Narad Muni knew all about the world like Google
 

बिप्लब देब के बाद विजय रूपानी की अजीब दलील: नारद गूगल की तरह सब कुछ जानते थे

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 April 2018, 12:15 IST

इन दिनों बीजेपी नेता और मंत्री राजनीति में पुरानी मान्यताओं को जोड़कर पार्टी की खूब किरकिरी करा रहे हैं. दो दिन पहले ही त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब ने भी इतिहास को लेकर इस तरह के बयान दे चुके हैं. अब गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी भी इसी दौड़ में शामिल हो गए हैं.

आरएसएस की शाखा विश्व संवाद केंद्र की ओर से आयोजित 'देवर्षि नारद जयंती' कार्यक्रम में गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने कहा कि गूगल को जैसे पूरी दुनिया के बारे में पता होता है वैसे ही संत नारद को भी पूरी दुनिया के बारे में जानकारी होती थी.

रूपानी ने आगे कहा कि, ''यह आज के दौर में प्रासंगिक है कि नारद एक ऐसे शख्स थे उनके पास पूरी दुनिया की जानकारी थी. वह उन सूचनाओं पर काम करते थे. मानवता की भलाई के लिए उन सूचनाओं को इकट्ठा करना उनका धर्म था ताकि अगर किसी को उनकी जरूरत हो तो वे वहां पहुंच जाएं.''

इससे पहले बीजेपी के कई और नेता भी इतिहास के बारे में इस तरह के अजीबो-गरीब बयान दे चुके हैं. इससे पहले त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब कहा था कि भारत में महाभारत काल के समय से ही इंटरनेट का इस्तेमाल हो रहा है. तभी तो संजय ने महाभारत के युद्धक्षेत्र का पूरा हाल धृतराष्ट्र को सुनाया था.

उसके बाद गुजरात विधानसभा अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी ने पीएम मोदी और डा. भीम राव अम्बेदकर को ब्राह्मण बताया था. त्रिवेदी ने भगवान कृष्ण के बारे में कहा था कि भगवान कृष्ण ओबीसी थे. साथ ही उन्होंने कहा था कि ऋषि सांदिपनी ने कृष्ण को भगवान बनाया. उन्होंने कहा कि चंद्रगुप्त मौर्य, भगवान राम और भगवान कृष्ण की सफलता में ब्राह्मणों का हाथ है.

ये भी पढ़ें- बिप्लब देब के बयानों से नाराज पीएम मोदी ने उठाया सख्त कदम

First published: 30 April 2018, 12:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी