Home » राजनीति » Gujarat Rajya Sabha Elections: Congress moves Supreme Court against NOTA
 

गुजरात राज्यसभा चुनाव: NOTA के ख़िलाफ़ सुप्रीम कोर्ट पहुंची कांग्रेस

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 August 2017, 14:54 IST
कैच न्यूज़

कांग्रेस की गुजरात इकाई ने राज्य में आगामी राज्यसभा चुनाव में नोटा का विकल्प रखने के फैसले के खिलाफ बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगाई है.

वरिष्ठ अधिवक्ता और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने मामले की तत्काल सुनवाई की मांग करते हुए जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष याचिका का जिक्र किया. न्यायमूर्ति मिश्रा ने गुरुवार को मामले की सुनवाई की अनुमति दे दी.

गुजरात कांग्रेस ने राज्य में आगामी चुनाव में नोटा का विकल्प रखने के निर्वाचन आयोग के फैसले को चुनौती देते हुए इससे संबंधित अधिसूचना पर रोक लगाने की मांग की है.

कांग्रेस ने मंगलवार को निर्वाचन आयोग से मांग की थी कि आठ अगस्त को होने वाले राज्यसभा चुनाव के लिए मतपत्रों में नोटा का विकल्प नहीं होना चाहिए.

कांग्रेस ने कहा कि राज्यसभा चुनाव के दौरान नोटा के विकल्प का प्रयोग संविधान, जन प्रतिनिधि अधिनियम, चुनाव नियमों के संचालन और सर्वोच्च न्यायालय के फैसलों के विरुद्ध है.

निर्वाचन आयोग ने हालांकि कहा कि आयोग ने 2013 के सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद स्पष्ट कर दिया था कि नोटा का विकल्प राज्यसभा चुनावों में मान्य होगा.

गुजरात में कांग्रेस अपने विधायकों की बगावत से भी जूझ रही है. छह विधायकों ने हाल ही में भाजपा का दामन थाम लिया है, जिससे सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल के लिए राज्यसभा चुनाव में मुश्किल खड़ी हो गई है. विधायकों के भाजपा में शामिल होने के बाद 182 सदस्यीय गुजरात विधानसभा में कांग्रेस विधायकों की संख्या 51 रह गई है.

राज्य में भाजपा के 121 विधायक हैं. अमित शाह और स्मृति ईरानी के अलावा बलवंत सिंह राजपूत ने तीसरी सीट के लिए भाजपा से पर्चा भरा है. कांग्रेस ने अपने 42 विधायकों को बेंगलुरु के एक रिजॉर्ट में रखा है. भाजपा पर कांग्रेस ने खरीद-फरोख्त के जरिए विधायकों को तोड़ने का आरोप लगाया है.

साभार: आईएएनएस

First published: 2 August 2017, 14:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी