Home » राजनीति » I support DeMonetisation, but just scrapping old notes won't bring back blackmoney:Nitish Kumar
 

नीतीश कुमार: अकेले नोट बंद करने से काले धन पर नहीं लगेगी लगाम

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:38 IST
(फाइल फोटो )

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एचटी लीडरशिप समिट में महागठबंधन और नोटबंदी पर खुलकर बात की. गठबंधन के अलावा केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले पर भी उन्होंने अपना रुख साफ किया. उन्होंने शराबबंदी को पूरे देश में लागू करने की भी बात कही. 

बिहार में सरकार चलाने को लेकर उनके और लालू के बीच मतभेद पर बिहार के सीएम नीतीश ने कहा राजनैतिक परिस्थियों की वजह से महागठबंधन बनाया. दोनों पार्टियों ने मिलकर चुनाव लड़ा. राजद और जेडीयू दोनों पार्टियों ने त्याग किया. इसको लोगों का जबरदस्त समर्थन मिला. सरकार बनी है और एक साल भी हो चुका है. काम भी अच्छा हो रहा है. लेकिन कुछ लोगों को ये गठबंधन अच्छा नहीं लगा.

हमने चुनाव के पहले जो कॉमन प्रोग्राम की घोषणा की थी जिसमें 7 निश्चिय अडाप्ट किए थे. सरकार बनने के बाद इन पर इंप्लिमेंटेशन शुरु हुआ. युवाओं के लिए कई कार्यक्रम शुरु किए गए. महिलाओं को नौकरियों में 35 प्रतिशत आरक्षण दिया. हर घर नल का जल योजना (पाइप वॉटर सप्लाई) पर काम शुरु हुआ. सभी योजनाए बन गई. सब पर काम शुरु हो गया. चुनाव के समय जो बोला वो किया. हमने 7 निश्चिय की बात कही उसको लागू किया.

शहाबुद्दीन के परिस्थितयों के मुख्यमंत्री वाले बयान पर नीतीश ने कहा सरकार की तरफ से वही किया गया जो करना चाहिए था. सबकी बातों पर ध्यान नहीं दिया जाता है. जिसकी कोई भूमिका गठबंधन बनाने में नहीं है. उस पर ध्यान देने की कोई आवश्यकता नहीं है. रुल ऑफ लॉ के मामले में कोई समझौता नहीं किया जाएगा.

गवर्नेंस के सवाल पर नीतीश ने कहा कि काम कम करो, प्रचार खूब करो, क्या इसी को कहते हैं गवर्नेंस. गठबंधन के बीच में टूटने के सवाल पर नीतीश ने कहा कि ये गठबंधन 5 साल तक चलेगा. अगले चुनाव में जनता तय करेगी की ये गठबंधन जीतने लायक है या नहीं.

नोटबंदी के फैसले स्वागत करते हुए बिहार के सीएम ने कहा कि काम तो अच्छा हुआ है लेकिन इससे पहले तैयारी करना जरुरी था. अकेले नोट बंद कर देने से काले धन पर लगाम नहीं लगेगी. इसके साथ-साथ बेनामी संपत्ति पर भी चोट करनी पड़ेगी.

शराबबंदी पर बोलते हुए नीतीश ने कहा कि शराब का जो धंधा है उसमें सबसे ज्यादा दो नंबर का पैसा लगा है. शराबबंदी से कालाधन सिमटा है. सभी घरो में खुशी का माहौल है. दो नंबर का काम बंद हो तो कालाधन सिमटेगा, अकेले नोटबंदी से नहीं. 

नीतीश ने आगे कहा कि नोटबंदी के फैसले की तरह अभी बेनामी संपत्ति पर हिट करना चाहिए और शराबबंदी को देश भर में लागू किया जाना चाहिए. 

First published: 3 December 2016, 6:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी