Home » राजनीति » Is there tension in RJD between Lalu Yadav son Tejaswi Yadav and Tej Pratap Yadav
 

तेजस्वी और तेज प्रताप की लड़ाई के बीच पिस रहे हैं लालू यादव, कोई देखने नहीं जाता अस्पताल !

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 September 2018, 15:51 IST

लालू यादव बीमारी की वजह से अस्पताल में भर्ती हैं लेकिन आलम यह है कि उन्हें देखने न तो उनके बेटे तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव और न ही उनकी बेटी मीसा यादव अस्पताल जाते हैं. दरअसल, चारा घोटाले के तीन मामले में दोषी पाए गए लालू प्रसाद यादव इस वक्त न्यायिक हिरासत में हैं लेकिन बीमार होने के कारण रांची के एक अस्पताल में भर्ती हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पिछले लगभग दो सप्ताह से उनकी बड़ी बेटी मीसा भारती और न ही बेटे तेजप्रताप यादव और तेजस्वी यादव उनका हाल चाल लेने रांची अस्पताल गए हैं. इससे यह कयास लगाए जा रहे हैं कि लालू के दोनों बेटों के बीच सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है.

पढ़ें- शरद पवार ने राफेल सौदे पर दिया PM मोदी का साथ तो वरिष्ठ नेता तारिक अनवर ने छोड़ दी पार्टी

हालांकि पार्टी के नेताओं का कहना हैं कि बारह दिनों के दिल्ली प्रवास के बाद तेजस्वी यादव पटना वापस लौटें हैं. हालांंकि उन्होंने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से कोई मुलाकात करने में दिलचस्पी नहीं दिखाई है. इसके बाद पार्टी के पुराने नेताओं का भी मानना है कि सब कुछ सामान्य नहीं लग रहा है.

बता दें कि तेजस्वी मीडिया से दूरी नहीं बनाते लेकिन पार्टी कवर करने वाले पत्रकार भी मानते हैं कि अब वो उनसे दूरी बनाये हुए हैं. इन सारी घटनाओं का कारण तेज़ प्रताप यादव को माना जा रहा है. कहा जा रहा है कि वह पार्टी में अपनी हैसियत का रोना रोकर न केवल घर में बल्कि पार्टी में भी नेताओं के लिए मुश्किल बढ़ाए हुए हैं.

पढ़ें- गृहमंत्रालय ने BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को दी देश के राष्ट्रपति जितनी सुरक्षा !

लोगों का कहना है कि तेज प्रताप चाहते हैं कि उनकी पूछ बढ़े और उनसे पूछे बिना पार्टी कोई निर्णय नहीं ले. लेकिन पार्टी के ही विधायक मानते हैं जब लालू यादव ने खुद तेजस्वी को अपना उत्तराधिकारी घोषित कर दिया है तो तेजप्रताप यादव से कोई क्यों कुछ पूंछे. राजद के नेता मानते हैं कि तेज़ प्रताप यादव कब कहां किसे फजीहत कर देंगे, कुछ कहा नहीं जा सकता.

First published: 28 September 2018, 15:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी