Home » राजनीति » It is army's routine exercise being carried out since many years: Manohar Parrikar
 

मनोहर पर्रिकर: पश्चिम बंगाल में सैन्य अभ्यास एक रूटीन एक्सरसाइज

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 December 2016, 12:41 IST
(फाइल फोटो )

टीएमसी समेत दूसरे विपक्षी दलों ने पश्चिम बंगाल में सैन्य अभ्यास के मामले को लोकसभा में उठाया है. इस मुद्दे पर रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर ने लोकसभा में जवाब दिया.मनोहर पर्रिकर ने कहा कि ये एक रूटीन एक्सरसाइज है. उन्होंने कहा कि पिछले साल 19 और 21 नवंबर 2015 को पश्चिम बंगाल में सैन्य अभ्यास किया गया था. लेकिन इस बार विपक्ष राजनीति से प्रेरित होकर झूठे आरोप लगा रहा है.

पर्रिकर ने कहा कि ममता के सेना पर लगाए गए इन आरोपों से दुख हुआ है. यह मुद्दा राजनीतिक हताशा के कारण उठाया गया है.

दूसरी ओर टीएमसी ने राज्यसभा में आरोप लगाते हुए कहा कि इस मामले में रक्षा राज्य मंत्री सुभाष भामरे द्वारा गुमराह किया गया. साथ ही सेना की तैनाती पर केंद्र की ओर से कोई सही जवाब भी नहीं दिया गया.

पूर्वी कमान ने भी बताया रूटीन अभ्यास

सेना की पूर्वी कमान ने भी ममता बनर्जी के आरोपों को गलत बताया है. पूर्वी कमान ने इसे सामान्य एक्सरसाइज बताते हुए कहा, "सभी पूर्वोत्तर राज्यों में रूटीन एक्सरसाइज हुई. असम में 18 जगहों, अरुणाचल में 13 जगहों, पश्चिम बंगाल में 19, मणिपुर में 6, नगालैंड और मेघालय में 5-5, जबकि त्रिपुरा और मिजोरम में एक जगह यह एक्सरसाइज हुई."

इसके अलावा पश्चिमी कमान ने कहा है कि पश्चिम बंगाल पुलिस को इसकी पूरी जानकारी दी गई थी. टोल प्लाजा पर सेना के कब्जे जमाने की अफवाह झूठी है.

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को सचिवालय पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दनकुनी और पलसित के दो टोल प्लाजा पर सेना की तैनाती पर चिंता जताई थी.

ममता ने कहा था कि राज्य सरकार को सूचित किए बगैर दो टोल प्लाजा पर सेना तैनात की गई है. यह बहुत गंभीर स्थिति है. ममता ने इसे आपातकाल जैसे हालात बताया और सैन्य तख्तापलट कहा.

उन्होंने सचिवालय में ही डेरा जमाए रखा. ममता बनर्जी ने राज्य सचिवालय में ही रुके रहने का फैसला करते हुए कहा था कि जब तक टोल प्लाजा से सेना नहीं हटाई जाती, वह तब तक वहां से नहीं जाएंगी.

इससे पहले, देर रात सेना ने कहा कि वह पश्चिम बंगाल पुलिस की पूरी जानकारी और समन्वय के साथ नियमित अभ्‍यास कर रही है.

First published: 2 December 2016, 12:41 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी