Home » राजनीति » Jammu Kashmir: Manmohan Singh meet 100 leaders of state congress pdp government mehbooba mufti
 

जम्मू-कश्मीर में बड़ी सियासी हलचल, राज्य के 100 नेताओं संग मनमोहन सिंह ने की बैठक

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 July 2018, 15:48 IST

जम्मू-कश्मीर में राजनीतिक उठापटक तेज हो गई है. जब भाजपा ने पीडीपी से समर्थन वापस लिया था तो उस समय कांग्रेस ने पीडीपी को समर्थन देने से इनकार कर दिया था. लेकिन अब खुद कांग्रेस ने राज्य में सरकार बनाने की कवायद शुरू कर दी है. खबर है कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने राज्य के 100 नेताओं से मुलाकात की है.

पूर्व पीएम द्वारा इन नेताओं से मुलाकात के बाद कांग्रेस नेता अंबिका सोनी ने बताया कि हमारी मांग है कि राज्य में जल्द से जल्द चुनाव हो. उन्होंने बताया कि हमनें राज्य के करीब 100 नेताओं को बैठक में बुलाया था. इसमें सांसद, विधायक, पूर्व सांसद-विधायक समेत कई लोग शामिल थे. हालांकि सुबह खबर थी कि कांग्रेस व पीडीपी के बीच खिचड़ी पकनी शुरू हो गई है. 

कांग्रेस के प्लानिंग ग्रुप की बैठक में मनमोहन सिंह, अंबिका सोनी के अलावा कर्ण सिंह, गुलाम नबी आज़ाद और पी. चिदंबरम शामिल हुए. बता दें कि जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती आज दिल्ली में ही हैं. खबर है कि वह यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी से मिल सकती हैं. हालांकि, अंबिका सोनी ने कहा कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है.

पहले खबर थी कि यह मीटिंग 3 जुलाई को बुलाई जा सकती है, लेकिन कांग्रेस समय को गंवाना नहीं चाहती. इसीलिए एक दिन पहले ही कांग्रेस ने मीटिंग बुला ली. खबर है कि मीटिंग में सरकार बनाने को लेकर भी चर्चा हुई है. 

पढ़ें- जम्मू-कश्मीर: BJP को बड़ा झटका, कांग्रेस के साथ सरकार बना सकती हैं महबूबा मुफ्ती

बता दें कि पिछले दिनों भाजपा प्रभारी राम माधव ने पीपुल्स कांफ्रेंस के नेता सज्जाद गनी लोन और निर्दलीय विधायक इंजिनियर राशिद से मुलाकात की थी. इसके बाद महबूबा मुफ्ती को डर सताने लगा है कि कहीं भाजपा उसके कुछ महत्वकांक्षी विधायकों को तोड़ न ले. 

गौरतलब है कि 87 सीटों वाली जम्मू-कश्मीर विधानसभा में पीडीपी के पास 28 विधायक हैं. वहीं कांग्रेस के पास 12 विधायक हैं. ऐसे में पीडीपी और कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए 4 और विधायकों की जरूरत है. अगर सीपीआई (एम) का एक विधायक, पीडीएफ का एक विधायक और दो निर्दलीय विधायक उन्हें समर्थन दे देते हैं तो कांग्रेस-पीडीपी की सरकार अमल में लाई जा सकती है. 

First published: 2 July 2018, 15:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी