Home » राजनीति » Rahul Gandhi: We respected institutions for 70 years PM Modi has stopped the tradition in two and half years
 

जनवेदना सम्मेलन: राहुल गांधी के पीएम मोदी पर 5 बड़े हमले

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 January 2017, 12:50 IST
(ट्विटर)

नोटबंदी समेत कई मुद्दों पर चर्चा के लिए बुलाए गए कांग्रेस के जनवेदना सम्मेलन में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी और आरएसएस पर जमकर निशाना साधा. इस दौरान राहुल ने नोटबंदी के फैसले को भी कठघरे में खड़ा किया. वहीं इस सम्मेलन में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी नहीं पहुंच सकीं.

राहुल ने आरएसएस और पीएम पर निशाना साधते हुए कहा कि इस देश को केवल दो लोग चला रहे हैं, नरेंद्र मोदी और आरएसएस. लेकिन कांग्रेस पार्टी हिंदुस्तान की आवाज़ को बचाकर रखेगी. एक नजर जनवेदना सम्मेलन के मंच से पीएम मोदी पर बोले गए राहुल के पांच बड़े बयानों पर:

राहुल के पीएम पर पांच बड़े वार

1. इस देश की जनता के अच्छे दिन तभी आएंगे जब 2019 में कांग्रेस की दोबारा सरकार बनेगी. ढाई साल पहले मोदी जी आए कहा कि हिंदुस्तान को साफ करूंगा, सबको झाड़ू पकड़ाया. फैशन था. तीन-चार दिन चला फिर भूल गए. कुछ और दिन ड्रामा चलता रहा- मेक इन इंडिया, स्किल इंडिया.

2.मैं बातें नोटिस करता हूं. बहुत योग किया पीएम ने लेकिन पद्मासन नहीं किया. मेरे योगगुरु ने कहा था कि जो योग कर सकता है वो पद्मासन कर सकता है और जो योग नहीं करता वो पद्मासन नहीं कर सकता. नोटबंदी एक बहाना है. मोेदी जी को पता लग रहा है कि योग, स्किल इंडिया, मेक इन इंडिया के पीछे नहीं छिप पाएंगे.

3. हिंदुस्तान की फाइनेंशियल रीढ़ की हड्डी इन्होंने (पीएम मोदी) तोड़ दिया. ऑटोमोबाइल सेक्टर में 60 फीसदी कम गाड़ियां बिकी हैं. 16 साल पहले की स्थिति में हम पहुंच गए हैं. पीएम से पूछा जाना चाहिए कि मनरेगा मजदूरों की मांग में अचानक इजाफा कैसे हुआ. शहरों के बजाए लोग गांव क्यों पलायन कर रहे हैं? 

4. जो हमने 70 साल में इंस्टीट्यूशन्स ज्यूडिशियरी, आरबीआई, प्रेस की रिस्पेक्ट की, ये सब काम मोदी जी और आरएसएस ने ढाई साल में बंद कर दिया. जब एक जज कुर्सी पर बैठता है तो वो देश के लोगों की भावनाओं का प्रतिनिधित्व करता है. हम देश को बताना चाहते हैं कि हिंदुस्तान के जो इंस्टीट्यूशन्स हैं उनको हम बचाकर रखेंगे. 

5. वो कहते हैं कि तुम लोग कौन हो? अब देश को सिर्फ नरेंद्र मोदी और मोहन भागवत चलाएंगे. नहीं हम हिंदुस्तान की आवाज को बचा के रखेंगे. 

First published: 11 January 2017, 12:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी