Home » राजनीति » JDU MP Harivansh will be the candidate of NDA for Rajya Sabha deputy chairman
 

जानिए कौन हैं NDA की तरफ से राज्यसभा के उपसभापति पद के उम्मीदवार हरिवंश नारायण सिंह?

आदित्य साहू | Updated on: 6 August 2018, 14:37 IST

राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने जानकारी दी कि राज्यसभा के उपसभापति का चुनाव 9 अगस्त को होगा. सभापति ने राज्यसभा में शून्यकाल के दौरान इसकी घोषणा की. उन्होंने कहा कि इसके लिए बुधवार 8 अगस्त को 12 बजे तक नामांकन पत्र दाखिल किया जा सकेगा. सभापति ने कहा कि 9 अगस्त को सुबह 11 बजे जरूरी दस्तावेज सदन के पटल पर रखे जाने के बाद उपसभापति पद के लिए चुनाव कराया जाएगा.

इसके लिए एनडीए ने अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया है. सूत्रों के मुताबिक एनडीए ने जदयू सांसद हरिवंश को उपसभापति पद का उम्मीदवार बनाया है. वहीं खबर है कि यूपीए की तरफ से एनसीपी के किसी नेता को उम्मीदवार बनाया जा सकता है. आप भी जानिए कौन हैं एनडीए के उम्मीदवार हरिवंश नारायण सिंह-

 

प्रभात खबर के पूर्व प्रधान संपादक

हरिवंश नारायण सिंह प्रभात खबर के पूर्व प्रधान संपादक रहे हैं. वह बिहार क्षेत्र से जदयू के राज्यसभा सांसद हैं. उनका निवास रांची में है. फिलहाल वह दिल्ली में रहते हैं. उन्होंने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन किया है. जदयू ने साल 2014 में उन्हें उच्च सदन भेजा है.

देश के वरिष्ठतम पत्रकारों में शुमार हरिवंश जदयू के महासचिव भी हैं. उन्हें बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार का बेहद करीबी माना जाता है. बता दें कि राज्यसभा में एनडीए के पास पूर्ण बहुमत नहीं है. इसकी वजह से हरिवंश को उपसभापति पद का उम्मीदवार बनाया गया है. माना जा रहा है कि गठबंधन को उम्मीद है कि उनकी बेदाग छवि के कारण विरोधी दलों का भी उन्हें समर्थन मिलेगा. वह ढाई दशक से अधिक समय तक ‘प्रभात खबर’ के प्रधान संपादक रहे हैं.

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के सिताबदियारा गांव में 30 जून, 1956 को जन्मे हरिवंश को जयप्रकाश नारायण (जेपी) ने सबसे ज्यादा प्रभावित किया. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से पत्रकारिता में डिप्लोमा के दौरान ही ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ समूह मुंबई में प्रशिक्षु पत्रकार के रूप में 1977-78 में उनका चयन हुआ.

इसके बाद वह टाइम्स समूह की साप्ताहिक पत्रिका ‘धर्मयुग’ में 1981 तक उपसंपादक रहे. 1981 -84 तक हैदराबाद एवं पटना में बैंक ऑफ इंडिया में नौकरी की. 1984 में इन्होंने पत्रकारिता में वापसी की और 1989 अक्तूबर तक आनंद बाजार पत्रिका समूह से प्रकाशित ‘रविवार’ साप्ताहिक पत्रिका में सहायक संपादक रहे.

बता दें कि 244 सदस्यीय राज्यसभा में भाजपा की गिनती 105 के करीब बैठ रही है. वहीं बीजेपी के नेतृत्व वाली एनडीए गठबंधन के पास राज्यसभा में 116 सांसद लगभग हो रहे हैं जबकि कई और सांसदों से उम्मीद की जा रही है कि वह इन्हें मदद करेंगे. 

First published: 6 August 2018, 14:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी