Home » राजनीति » Kailash Vijayvargiya: If we start violence, Mamata banerjee not travel in country
 

कैलाश विजयवर्गीय: अगर हम हिंसा शुरू कर दें, तो ममता बनर्जी देश में कहीं घूम पाएंगी?

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 January 2017, 10:32 IST
(एजेंसी)

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में भारतीय जनता पार्टी के कार्यालय पर हुए हमले के मामले में बीजेपी के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा, "तृणमूल कांग्रेस तो सिर्फ बंगाल में है, लेकिन भाजपा पूरे देश में है. अगर हम लोग हिंसा शुरू कर दें, तो क्या मुख्यमंत्री ममता बनर्जी देश में कहीं घूम पायेंगी."

कैलाश विजयवर्गीय ने यह प्रतिक्रिया बुधवार की सुबह उस समय दी, जब वो हमले में घायल कार्यकर्ताओं को देखने के लिए अस्पताल गये हुए थे.

उसके बाद उन्होंने वो बंगाल भाजपा के कार्यालय पहुंचे, जहां उन्होंने कहा कि वह दिल्ली में धरना देने की बात कर रही हैं, लेकिन अगर हम चाहें, तो उनको दिल्ली में घुसने भी नहीं देंगे, लेकिन हम ऐसा नहीं चाहते.

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से अपील करते हुए विजयवर्गीय ने कहा कि गणतंत्र का सम्मान करें और राज्य में स्वाभाविक परिस्थिति लौटायें.

इसके साथ ही विजयवर्गीय ने कोलकाता पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि भाजपा कार्यालय पर हमले हो रहे थे, कार्यकर्ताओं को मारा जा रहा था और उस समय पुलिस मूकदर्शक बन कर खड़ी हुई थी.

उन्होंने कहा कि पूरी घटना को जानने के बाद ऐसा लग रहा है कि पुलिस के संरक्षण में हमलावर ऐसा कर रहे थे.

विजयवर्गीय ने कोलकाता पुलिस आयुक्त राजीव कुमार के खिलाफ सीबीआइ जांच की मांग की और कहा कि तृणमूल कांग्रेस के नेताओं व मंत्रियों को बचाने के लिए राजीव कुमार ने सारदा चिटफंड कंपनी के सभी सबूत व दस्तावेज गायब कर दिये हैं.

उन्होंने कहा कि वो कोलकाता पुलिस आयुक्त राजीव कुमार के खिलाफ स्वयं देश के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह व दिल्ली के सीबीआइ कार्यालय में लिखित रूप से शिकायत दर्ज कराएंगे.

विजयवर्गीय ने कोलकाता पुलिस आयुक्त को सतर्क करते हुए कहा कि वह तृणमूल कांग्रेस का पक्ष लेते हुए कार्य कर रहे हैं, दिल्ली में केंद्र सरकार है और आइपीएस अधिकारियों के लिए संविधान व कानून भी है, जिसे उन्हें मान कर अपनी ड्यूटी करनी चाहिए.

First published: 5 January 2017, 10:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी