Home » राजनीति » karnataka: BJP President Amit Shah says Congress and JDS formed an alliance against the people mandate, This is unholy alliance
 

कर्नाटक में कांग्रेस-JDS का अपवित्र गठबंधन, जनता ने BJP को समर्थन दिया : अमित शाह

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 May 2018, 17:50 IST

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कर्नाटक में अपनी ही पार्टी की सरकार गिर जाने के बाद सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. जिसमें उन्होंने बीजेपी के सरकार बनाने के कदम का बचाव करते हुए कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा.  उन्होंने कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन को अपवित्र बताते हुए कहा कि कर्नाटक की जनता ने कांग्रेस के खिलाफ और बाजेपी  के समर्थन अपना मत  दिया.

बीजेपी राज्य में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी. सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते हमने राज्य में सरकार बनाने का दावा पेश किया. इसमें कुछ भी गलत नहीं था. अगर ऐसा नहीं करते तो फिर से चुनाव कारने की नौबत आती, जो सही नहीं होता.

शाह ने कहा कि पिछले चुनाव में हमने 40 सीटों पर जीत दर्ज की थी. लेकिन इस बार कर्नाटक की जनता ने हमको 104 सीटों पर विजय दी. बीजेपी को मिला कर्नाटक की जनता का ये जनादेश कांग्रेस के खिलाफ है. कांग्रेस की पिछली सरकार में राज्य में किसानों की आत्महत्या, कमजोर कानून व्यवस्था सबसे बड़ा मुद्दा रहा है. भ्रष्टाचार, कुशासन और तुष्टिकरण की नीतियों को उजागर करना ही हमारी कोशिश है.

इसको उजागर करना ही हमारी पार्टी का मकसद रहा है. उन्होंने कहा कि केंद्र में हमारी सरकार ने सबसे ज्यादा प्रोजेक्ट कर्नाटक को दिए गए हैं. आजादी के बाद पहली बार किसी सरकार में कर्नाटक को इतने प्रोजेक्ट मिले हैं.

अमित शाह ने कहा कि कई सीटों पर हमको नोटा से भी कम अंतर से हार मिली है. कर्नाटक की जनता ने हमको पूरा समर्थन देने की कोशिश की है. जनता ने कांग्रेस को हराने के लिए बीजेपी को वोट दिया. उन्होंने कहा कि कर्नाटक की जनता नहीं , कांग्रेस और जेडीएस सरकार बनाने का जश्न मना रही है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस को चुनाव से पहले ही अपनी हार का पता चल गया था. कांग्रेस और जेडीएस का ये अपवित्र गठबंधन है. कांग्रेस जन समर्थन के खिलाफ जाकर जेडीएस के साथ सरकार बनाने जा रही है.

शाह ने आगे कहा कि लेकिन इस चुनाव में एक बात बहुत अच्छी रही. कांग्रेस की लोकतांत्रिक संस्थाओं के प्रति आस्था बढ़ गई है. कांग्रेस अब चुनाव आयोग और सुप्रीम के सम्मान की बात करने लगी है. हम उम्मीद करते हैं कि जो रवैया कांग्रेस का अभी है, वो हारने के बाद भी रहे.

First published: 21 May 2018, 17:50 IST
 
अगली कहानी