Home » राजनीति » CBI Special Court acquits BS Yeddyurappa and others in a 40 crore bribery case
 

कर्नाटक के पूर्व सीएम येदियुरप्पा 40 करोड़ की घूसखोरी के मामले में बरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 October 2016, 12:04 IST
(पीटीआई)

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा को भ्रष्टाचार के मामलों में बड़ी राहत मिली है. 40 करोड़ की रिश्वत के मामले में बेंगलुरु की स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने येदियुरप्पा को बरी कर दिया है. 

येदियुरप्पा की लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा में वापसी हुई थी. अभी वह कर्नाटक राज्य भाजपा के अध्यक्ष हैं. रिश्वत के दूसरे मामलों में भी वो बरी हो गए हैं. इसके साथ ही येदियुरप्पा के परिवार के सदस्यों को भी सीबीआई कोर्ट ने सभी आरोपों से मुक्त कर दिया है.

येदियुरप्पा के दो बेटों और दामाद पर भी भ्रष्टाचार के मामलों में आरोप थे. येदियुरप्पा पर खनन लाइसेंस देने के लिए रिश्वत लेने के आरोप थे. येदियुरप्पा के बेटों पर यह भी आरोप था कि उन्होंने गैर कृषि क्षेत्र से 2 लाख रुपये से अधिक की सालाना आय होने के बावजूद भी उन्होंने इसे कम दिखाया, ताकि खेती के नाम पर प्लॉट ले सकें. कोर्ट ने इस आरोप को भी खारिज कर दिया और कहा कि 2005-06 से पहले येदियुरप्पा के बेटों की आय कम थी. 

विशेष सीबीआई अदालत से राहत मिलने के बाद येदियुरप्पा ने खुशी जताई है. येदियुरप्पा ने ट्वीट किया, "इंसाफ हो गया है. मैं दोषमुक्त हो गया हूं. उन सभी शुभचिंतकों, दोस्तों और समर्थकों को धन्यवाद जो मेरे मुश्किल वक्त में साथ खड़े रहे."

गंवाना पड़ा था सीएम पद

भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री पद गंवाना पड़ा था. 2008 में कर्नाटक विधानसभा में जीत के साथ ही दक्षिण भारत में पहली बार भाजपा ने अपनी सरकार बनाई थी.

मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिलवाए जाने से नाराज येदियुरप्पा ने 2012 में बीजेपी छोड़ दी थी, लेकिन 2014 में वह दोबारा पार्टी में लौट आए, जब प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी के रूप में नरेंद्र मोदी ने लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रचार अभियान की कमान संभाली.

इसके बाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने 11 उपाध्यक्षों में बीएस येदियुरप्पा को शामिल किया था. अदालत के फैसले के बारे में जानकारी देते हुए वकील सीवी नागेश ने कहा, "अभियोजन पक्ष दोष साबित करने में नाकाम रहा. इसलिए सभी अभियुक्तों को बरी कर दिया गया और बेल बॉन्ड रद्द कर दिए गए हैं."

First published: 26 October 2016, 12:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी