Home » राजनीति » Karnataka: congress said- Since 12-12.30 pm we are seeking appointment with Governor
 

राज्यपाल संविधान से खिलाफ नहीं जा सकते, न्यौते का है इंतज़ार : कांग्रेस

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 May 2018, 16:02 IST

कर्नाटक में सरकार बनाने की जोड़तोड़ के बीच राजनीति भी तेज हो गई है. सूत्रों की मायने तो अगर कांग्रेस और जेडीएस को राज्यपाल द्वारा सरकार बनाने के लिए नहीं बुलाया जाता तो कांग्रेस विधायक कल से राज भवन के बाहर धरने पर बैठेंगे. इस धरने में सांसद भी उनके साथ शामिल हो सकते हैं.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आज़ाद का कहना है कि ''विधायकों की चोरी की इजाजत नहीं होनी चाहिए. कोई भी राज्यपाल संविधान के खिलाफ नहीं जा सकता. हम आपको नहीं बता सकते किसने हमसे बात की किसने नहीं. ऐसे वक्त पर हमें राज्यपाल में पूरा भरोसा है कि वह संविधान के अनुसार चलेंगे न कि पार्टी की राजनीति के''

 

गुलाम नबी आज़ाद ने कहा कि आज 12-12.30 बजे से हम गवर्नर से समय मांग रहे हैं, जिससे उन्हें कांग्रेस और जेडीएस के विधायकों के 2 पत्र सौंपे जा सकें.'  इससे पहले जेडी (एस) कुमारस्वामी ने आरोप लगाया कि बीजेपी ने हमारे विधायकों को 100 करोड़ और कैबिनेट पद का ऑफर दिया है.

इसके जवाब में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा ''100 करोड़ की बात कल्पना मात्र है और जेडीएस और कांग्रेस ऐसे ही राजनीति करती है. हम नियमों का पालन कर रहे हैं और हमने सरकार बनाने का अपना दावा राज्यपाल के सामने पेश किया है.

ये भी पढ़ें :कर्नाटक : BJP विधायक दल के नेता चुने गए येदियुरप्पा, आज राज्यपाल से मिलकर कल से सकते हैं शपथ

 

First published: 16 May 2018, 16:00 IST
 
अगली कहानी