Home » राजनीति » Karnataka Election 2018: If congress win then Mallikarjun Kharge can be chief minister
 

कर्नाटक चुनाव: कांग्रेस जीती तो मल्लिकार्जुन खड़गे बन सकते हैं CM, सिद्धारमैया ने दिए थे संकेत

आदित्य साहू | Updated on: 14 May 2018, 13:26 IST

कर्नाटक विधानसभा चुनावों के लिए 12 मई को मतदान हुए हैं. इसके नतीजे 15 मई को आएंगे. इस बीच कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने एक बड़ा बयान दिया था. सिद्धारमैया ने कहा था कि वह एक दलित के लिए अपनी सीएम पद की दावेदारी छोड़ने को तैयार है.

सिद्धारमैया के इस बयान के कई मायने हैं. दरअसल, चुनाव के बाद आए तमाम एग्जिट पोल राज्य में त्रिशंकु विधानसभा की ओर इशारा कर रहे हैं. अगर ऐसा होता है तो एचडी देवगौड़ा की पार्टी जेडीएस की भूमिका किंगमेकर वाली हो जाती है. जेडीएस का ऐसा है कि वह सिद्धारमैया के नाम पर कभी तैयार नहीं होगी. क्योंकि सिद्धारमैया कभी जेडीएस में हुआ करते थे लेकिन पार्टी में अनबन के चलते उन्हें निकाल दिया गया था.

ऐसे में जेडीएस उनके नाम पर कभी राजी नहीं होगी. इसलिए जेडीएस को बीजेपी संग जाने से रोकने के लिए खुद सिद्धारमैया ने दांव चल दिया है. जेडीएस का दलितों में आधार है इसकी वजह से वह कांग्रेस के दलित कार्ड पर ऐतराज नहीं करेगी.

ऐसे में कांग्रेस के पास दलित के रूप में कर्नाटक से जो सबसे बड़ा चेहरा है वह है मल्लिकार्जुन खड़गे का. खड़गे कांग्रेस के दिग्गज नेता माने जाते हैं. जमीनी नेता के तौर पर उनका नाम आता है. खड़गे स्वच्छ छवि वाले नेता माने जाते हैं और 9 बार विधायक बन चुके हैं. वे कर्नाटक की राजनीति में लंबा अनुभव रखने वाले नेता हैं.

साल 2013 में मल्लिकार्जुन खड़गे सीएम पद की रेस में भी थे. लेकिन पार्टी ने उनकी जगह सिद्धारमैया को सीएम बनाया था. फिर खड़गे को राष्ट्रीय राजनीति की जिम्मेदारी सौंपी गई थी.

पढ़ें- कर्नाटक चुनाव: रिजल्ट से पहले ही देश छोड़ गए कुमारस्वामी, BJP से गठबंधन की अटकलें तेज

सिद्धारमैया के दलित सीएम वाले बयान पर मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, "मैंने कभी भी दलित नेता के तौर पर मुख्यमंत्री पद की मांग नहीं रखी. अगर उन्हें मुझको एक नेता के रूप में स्वीकार करने में शर्म आती है, तो वो मुझे पार्टी का वरिष्ठ कार्यकर्ता मान लें. पार्टी मुझे मेरी जाति की बजाए, वरिष्ठता के आधार पर शीर्ष पद के योग्य मानती है तो मैं इसका स्वागत करता हूं."

खड़गे ने जरूर ऐसा कहा है लेकिन अगर राज्य में दलित सीएम बनाने की बात सामने आती है तो खड़गे से बड़ा दलित चेहरा कांग्रेस के पास नहीं है. ऐसे में दलित सीएम के रूप में खड़गे सबसे प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं. उन्हें दलित सीएम बनाए जाने की संभावनाओं पर उन्होंने कहा कि हर बार इस बारे में बात करने का कोई फायदा नहीं है. यदि ऐसा होना होगा तो होगा.

First published: 14 May 2018, 13:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी