Home » राजनीति » Karnataka: Political war between congress and jds over finance ministry
 

कर्नाटक: कांग्रेस और जेडीएस में मलाईदार मंत्रालयों को लेकर भिड़ंत, अड़े कुमारस्वामी

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 May 2018, 11:05 IST

कर्नाटक में कुमारस्वामी को सीएम पद की शपथ लिए एक हफ्ता बीत चुका है लेकिन मंत्रीमंडल गठन को लेकर अभी तक दोनों कांग्रेस और जेडीएस में आम सहमति नहीं बन पाई है. इन दोनों पार्टियों मेें 'मलाईदार मंत्रालयों' को लेकर मामला फंसता दिख रहा है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यह बात तो पक्की है कि सरकार के मंत्रीमंडल में जेडीएस के 12 और कांग्रेस के 22 मंत्री होंगे, लेकिन दोनों के बीच महत्वपूर्ण मंत्रालयों को लेकर गतिरोध बना हुआ है.

खबर है कि सीएम कुमारस्वामी अपने पास गृह और वित्त मंत्रालय रखना चाहते हैं. इसके अलावा कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन में बिजली विभाग, पीडब्ल्यूडी, स्वास्थ्य, खनन, एक्साइज आदि विभागों को लेकर खींचतान जारी है.

खबरों के अनुसार, कांग्रेस वित्त, गृह, कृषि, शहरी विकास जैसे महत्वपूर्ण विभाग मांग रही है. लेकिन सीएम कुमारस्वामी इन विभागों को देने को तैयार नहीं है. जेडीएस की कोशिश है कि उसे इनमें से कम से कम दो-तीन विभाग मिल जाएं.

वहीं दूसरी तरफ, कांग्रेस के खुद के नेताओं में सत्ता में हिस्सेदारी को लेकर आपसी खींचतान चल रहा है. डीके शिवकुमार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनना चाहते हैं. जबकि मल्लिकार्जुन खड़गे अपने बेटे को कोई बढ़िया पोस्ट दिलाने के लिए लॉबिंग कर रहे हैं. वहीं सिद्धारमैया भी अपने बेटे को कैबिनेट में शामिल कराना चाहते हैं. मल्ल‍िकार्जुन खड़गे, जी. परमेश्वर, सिद्धारमैया, डी.के. शिवकुमार दिल्ली में जमे हुए हैं.

पढ़ें- तेल के बाद CNG ने निकाले आंसू : पेट्रोल-डीजल के बाद अब CNG भी हुई महंगी

बता दें कि अभी फिलहाल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी देश से बाहर गए हैं. राहुल अपनी मां सोनिया का इलाज कराने उन्हें लेकर विदेश गए हैं. इस बाबत उन्होंने ट्वीट कर जानकारी दी थी.

First published: 29 May 2018, 11:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी