Home » राजनीति » Kumbh Mela 2019: Yogi Government is cleaning the Ganga river water from geo tube technology
 

कुंभ मेला: अब गंगा नहीं रही मैली, स्वच्छ गंगाजल में श्रद्धालु लगा रहे हैं डुबकी, योगी सरकार की इस टेक्नोलॉजी का है कमाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 January 2019, 12:20 IST

प्रयागराज में आज से शुरु हो रहे कुंभ मेले में देश से ही नहीं बल्कि विदेश से भी लाखों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं और गंगा स्नान करते है. इस बार योगी सरकार कुंभ जाने वाले श्रद्धालुओं को एक खास तोहफा दे रही है. इस बार सभी लोग निर्मल गंगा जल में आस्था की डूबकी लगा सकेंगे. यूपी की योगी सरकार ने इसके लिए खास जियो टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया है. जियो ट्यूब टेक्नोलॉजी के जरिए गंदा पानी पूरी तरह ट्रीट होने के बाद ही गंगा में छोड़ा जा रहा है. गंगा में जाने वाले पानी की क्वालिटी का एंड्राइड एप के जरिए सेटलाइट डिस्प्ले भी किया जा रहा है. देश में हाल ही में लॉन्च हुई जिओ ट्यूब टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल इस बार पहली बार कुंभ में हो रहा है.

 

प्रयागराज में इस साल कुंभ मेले में करीब 15 करोड़ श्रद्धालुओं की आने की उम्मीद है और देश ही नहीं बल्कि विदेश से भी कई श्रद्धालु आने वाले है.हाल के दिनों में गंगा में फैले प्रदूषण पर मचे बवाल पर इस साल योगी सरकार ने ये योजना निकाली है. इतना ही नहीं इश तकनीक की मदद से नदी का पानी और गंदे नाले और सीवर भी साफ किए जा रहे हैं. इस ट्यूब की मदद से गंगा में साफ पानी भेजने वाली कंपनी इंजिओ दृष्टा के सीईओ रजनीश मेहरा का दावा है कि इसके बाद पानी इतना साफ हो जाएगा कि उसे पिया भी जा सकता है.

 

जिओ कंपनी के जरिए योगी सरकार ने संगम के आस-पास कुंभ मेला क्षेत्र में जिओ ट्यूब के कई प्लांट लगवाए हैं और इससे गंगा के नजदीक पहुंचे गंदे पानी से साफ हुए पानी के नमूने को देखकर उसकी क्वालिटी का सही अंदाजा लगाया जा सकता है. सीवर ट्रीटमेंट प्लांट के मुकाबले ये तकनीक न सिर्फ सस्ती है बल्कि यह काफी कम समय लेती है और साथ ही इसमें शुद्धता की संभावना कई गुना बढ़ जाती है. कुंभ मेले के आस-पास के इलाकों में यह प्लांट तीन हफ्ते में ही काम करने लगे हैं और यहां से निकले हुए पानी की वजह से संगम के नजदीक गंगा जल का रंग और भी साफ नजर आ रहा है.

 

 

फिलहाल, इस बार पहली बार कुंभ मेले का पानी किसी तकनीक के द्वारा साफ किया जा रहा है. अब इस बात का फैसला तो वक्त ही करेगा कि श्रद्धालुओं को कितना साफ पानी मिलेगा लेकिन इस बार योगी सरकार कुंभ में आने वाले लोगों के लिए मेहनत कर रही हैं. अब ये मेहनत कितना रंग लाएगी ये श्रद्धालु खुद बताएंगे.

ये भी पढ़ें- हनी ट्रैप में फंसा जवान, पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी ISI को दे रहा था सीक्रेट जानकारी

First published: 14 January 2019, 12:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी