Home » राजनीति » Lalu yadav: At present Modi govt try to impose emergency
 

लालू यादव: ये मोदी राज नहीं, इमरजेंसी के हालात हैं

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 November 2016, 10:18 IST
(एजेंसी)

राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने देश के वर्तमान राजनीतिक हालात को खराब बताते हुए इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराया है.

लालू यादव ने ट्विटर पर लिखा कि "वे लोकतंत्र में लोकशर्म को दरकिनार कर चल रहे हैं. संवैधानिक मूल्य खतरे में हैं और फासीवाद दस्तक दे चुका है."

लालू प्रसाद पूर्व सैनिक की आत्महत्या के मामले में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को हिरासत में लेने आज ट्विटर के माध्यम से मोदी सरकार पर जबरदस्त हमला किया.

उन्होंने कहा, ''देश में फासीवाद दस्तक दे चुका है. संवैधानिक व लोकतांत्रिक मूल्य खतरे में हैं. सरकार के खिलाफ बोलने वालों को गिरफ्तार और बैन किया जा रहा है.''

इसके अलावा एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा है, "हेडलाइंस मार्केटिंग की सरकार की ऐसी दुर्दशा होना लाजिमी है. ढाई साल में पीएम की इतनी पतली हालत होगी, खुद उन्होंने अपने सपने में नहीं सोचा होगा."

गौरतलब है कि पीएम मोदी के लिए लालू यादव ने इतनी तल्ख टिप्पणी इसलिए कि है क्योंकि बीते दिनों वन रैंक वन पेंशन की मांग को लेकर हरियाणा के एक पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल ने दिल्ली में आत्महत्या कर ली थी.

उसके जब मृत पूर्व सैनिक के परिजनों से मिलने के लिए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया गए, तो दिल्ली पुलिस ने इस तीनों समेत कई नेताओं को हिरासत में ले लिया था. यही नहीं मृत सैनिक के परिजनों से दिल्ली पुलिस ने कथित तौर पर बदसलूकी भी की थी.

इसके अलावा सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की एक समिति के द्वारा पठानकोट हमले की खबर में नियमों के खिलाफ प्रसारण के संबंध में हिंदी समाचार चैनल एनडीटीवी इंडिया को आगामी 9 नवंबर को ऑफ एयर करने की सिफारिश की गई है.

इस फैसले को लेकर भी विपक्षी दल मोदी सरकार पर लोकतंत्र का गला घोंटने का आरोप लगा रहे हैं. इसे सरकार के द्वारा परोक्ष तौर पर इमरजेंसी की तरह बताया जा रहा है.

First published: 5 November 2016, 10:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी