Home » राजनीति » Lalu Yadav reply of his Tej Pratap's 'will skin pm Narendra Modi' comment
 

बेटे के विवादित बयान पर लालू ने दिया ये जवाब

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 November 2017, 18:04 IST

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद के बेटे के विवादित बयान ने बिहार की राजनीति में भूचाल ला दिया है. महागठबंधन में बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने सोमवार को पीएम मोदी की खाल उधड़वाने की धमकी दी. दरअसल उनके पिता लालू प्रसाद यादव की सुरक्षा में कटौती करने के एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने सीधे शब्दों में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की खाल उधड़वा देंगे.

इधर, तेज प्रताप के बयान के बाद लालू प्रसाद ने जहां सफाई दी है, वहीं बिहार में सत्ताधारी भाजपा और जद (यू) ने तेज प्रताप के बहाने लालू पर निशाना साधा है. तेज प्रताप ने यहां संवाददाताओं से कहा, "हम लोग कार्यक्रमों में जाते रहते हैं. लालू प्रसाद जी भी इन कार्यक्रमों में जाते रहते हैं. ऐसे में सुरक्षा वापस लेना, उनकी हत्या कराने की साजिश है। हम इसका मुंहतोड़ जवाब देंगे, नरेंद्र मोदी जी की खाल उधड़वा देंगे."

गौरतलब है कि लालू की सुरक्षा श्रेणी 'जेड प्लस' से घटाकर 'जेड' कर दी गई है. इस बयान के बाद बिहार की राजनीति अचानक गरम हो गई. बिहार के उपमुख्यमंत्री और भाजपा के नेता सुशील कुमार मोदी ने सधे अंदाज में कहा कि कोई भी व्यक्ति अपनी पसंद की भाषा का इस्तेमाल कर सकता है. लेकिन जो लोग ऐसी भाषा का इसतेमाल करते हैं, उन्हें देश के लोग ही सबक सिखाते हैं.

इधर, लालू ने तेज प्रताप के बयान पर सफाई देते हुए कहा कि पिता को कोई साजिश में फंसाएंगे तो जवान बेटा बोलेगा ही. उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि यह सही नहीं है. इधर, जद (यू) के प्रवक्ता और विधान पार्षद नीरज कुमार ने कहा कि तेज प्रताप को लालू प्रसाद स्नातक की शिक्षा भी नहीं दिला पाए और विधायक बना दिए, लेकिन राजनीति में वे अपनी हैसियत भूल गए.

उन्होंने कहा, "उनका पारिवारिक संस्कार कैसा है, यह मैं नहीं जानता. मुझे यह लगता है कि तेजस्वी यादव को जब लालू प्रसाद ने उपमुख्यमंत्री बनवा दिया और अब विधायक दल का नेता बनाया तो इनके घर में गृहक्लेश आरंभ हो गया. ऐसे बोलने वाले पुत्र से मां-पिता भी बोलने से परहेज करते हैं."

उन्होंने कहा कि इस ढंग की भाषा का सार्वजनिक जीवन में इस्तेमाल, देश के प्रधानमंत्री पद पर किया जाना यह बताता है कि राजनीति के 'लंपटीकरण' का जो आरोप लालू प्रसाद पर लगता रहा है वह अब अपना संस्कार अपने बेटे को भी दे दिए. कुमार ने आगे कहा, "प्रधानमंत्री पद पर इस तरह की अमर्यादित टिप्पणी बताता है कि लालू का पूरा परिवार मानसिक राजनीतिक कारावास की स्थिति में है. ऐसे नेताओं से बिहार की जनता को भगवान ही बचाएं."

 हाल ही में  तेज प्रताप यादव ने बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को लेकर विवादित बयान देते हुए कहा था कि वह सुशील मोदी के घर में घुसकर उन्हें मारेंगे. तेज प्रताप ने कहा था कि वह अगर सुशील मोदी के बेटे की शादी में जाते हैं, तो वहीं उनकी पोल खोल देंगे. इसके बाद सुशील मोदी ने अपने पुत्र की शादी के कार्यक्रम स्थल में भी बदलाव कर दिया है. सुशील मोदी के बेटे की शादी तीन दिसंबर को होने वाली है.

First published: 27 November 2017, 18:04 IST
 
अगली कहानी