Home » राजनीति » Lok Sabha polls 2019: Satta market bullish on NDA's return to power
 

सट्टा बाजार दे रहा है NDA को पूर्ण बहुमत, लेकिन प्रियंका गांधी बिगाड़ सकती हैं खेल

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 March 2019, 13:33 IST

आगामी लोकसभा चुनावों में सट्टा बाजार या अवैध सट्टेबाजी बाजार भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के जीत का दावा कर रहा है. एक रिपोर्ट के अनुसार सट्टा बाजार पुलवामा हमले और बालाकोट जवाबी कार्रवाई के बाद भाजपा की संभावनाओं को मजबूत कर रहा है. एयर स्ट्राइक से पहले सट्टेबाज आगामी चुनावों में भाजपा को 200-230 सीटों की उम्मीद कर रहे थे. लेकिन अब वे पार्टी के लिए 245-251 सीटें और एनडीए को 300 से अधिक सीटें दे रहे हैं जो एनडीए के लिए अगली सरकार बनाने के लिए पर्याप्त है.

पुलवामा हमले से पहले कांग्रेस के 200 या उससे अधिक सीटें जीतने की संभावनाएं थी. सट्टा बाजार में चुनाव का दांव चुनाव की तारीखों की घोषणा होने के बाद तेजी से शुरू हो गया है. लोकसभा चुनाव 11 अप्रैल से 19 मई के बीच सात चरणों में होंगे. जबकि 23 मई मतगणना का दिन है. सट्टा बाजार का मानना है कि बालाकोट हवाई हमले ने सरकार पर आतंकवाद से निपटने के लिए विश्वास को पुनर्जीवित किया है.

चुनाव ट्रेडों के लिए राजस्थान में फलोदी शहर को केंद्र माना जाता है और मुंबई और दिल्ली जैसे प्रमुख बाजारों को राजस्थान में ट्रेडों द्वारा निर्देशित किया जाता है. उम्‍मीदवारों की सूचियों की घोषणा और प्रमुख राजनीतिक दल अपने घोषणापत्रों के साथ सामने आएंगे, जिसके साथ ही खिलाड़ी दांव और वॉल्यूम बढ़ाते हैं और दरें भी बदल जाएंगी.

एक रिपोर्ट के अनुसार अनुसार व्यापारियों और किसानों में वोट स्विंग करने की क्षमता भी होती है. व्यापारियों को लगता है कि एनडीए के नीतिगत बदलाव जैसे कि विमुद्रीकरण और GST के कार्यान्वयन के कारण उन्हें नुकसान उठाना पड़ा है. कुछ फसलों को छोड़कर प्रमुख फसलों और अकुशल खरीद मशीनरी के लिए कम कीमतों के कारण कृषि संकट पैदा हुआ है.

यहां तक कि कांग्रेस के प्रधानमंत्री उम्मीदवार भी सीट पर कुछ प्रभाव डाल सकते हैं, हालांकि पंटर्स कांग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन की सरकार बनाने की कोई संभावना नहीं देखते हैं. लेकिनअगर प्रियंका गांधी को पीएम उम्मीदवार घोषित किया जाता है, तो कांग्रेस की ओर कुछ बदलाव संभव है.

PM मोदी ने ट्वीट कर अखिलेश यादव का जीता दिल, सपा नेता ने कही ये बात

First published: 13 March 2019, 13:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी