Home » राजनीति » Loksabha election 2019: Election Commission called all party meeting Congress can demand ballot paper
 

लोकसभा चुनाव से पहले EC ने बुलाई सर्वदलीय बैठक, कांग्रेस करेगी बैलट पेपर से चुनाव कराने की मांग !

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 August 2018, 10:26 IST

चुनाव आयोग ने आज अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों की तैयारियों पर चर्चा करने के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाई है. इस बैठक में कांग्रेस समेत विपक्षी पार्टियां ईवीएम का मुद्दा उठा सकती हैं. आशंका है कि कांग्रेस आने वाले लोकसभा चुनाव में बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग कर सकती है.

आयोग के सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार, बैठक सिर्फ ईवीएम के संबंध में नहीं है, बल्कि यह सभी पक्षों की वार्षिक बैठक है. इस बैठक में कुछ दल द्वारा ईवीएम की कथित हैकिंग और और इनसे छेड़छाड़ का मुद्दा उठा सकते हैं, लेकिन उम्मीद है कि चुनाव आयोग पिछले वर्ष दी गई छेड़छाड़ की चुनौती में कोई भी ईवीएम को हैक नहीं कर पाने की बात को याद दिलाएगा. 

 

चुनाव आयोग ने इस बैठक के लिए 7 राष्ट्रीय और 51 क्षेत्रीय दलों को न्योता भेजा है. बता दें कि एनडीए के घटक दल शिवसेना समेत 17 राजनीतिक दलों ने बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग कर रहे हैं. इन पार्टियों में कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस,बसपा, जद(एस), तेलुगू देशम पार्टी, एनसीपी, एसपी, सीपीएम, आरजेडी, डीएमके, सीपीआई, वाईएसआर कांग्रेस, केरल कांग्रेस मणि और एआईयूडीएफ शामिल हैं.

पढ़ें- BJP विधायक ने कहा- केरल बाढ़ गोहत्या का परिणाम, पाप करने वालों का यही होगा अंजाम

विपक्षी पार्टी के एक नेता के मुताबिक वो निष्पक्ष और पारदर्शी चुनाव के लिए बैलेट पेपर पर जोर देना चाहेंगे. उन्होंने बताया कि हम ईवीएम टेंपर प्रूफ नहीं है. साथ ही हम यह मुद्दा भी उठाएंगे कि चुनाव खर्च उम्मीदवार के साथ ही राजनीतिक दलों का भी निर्धारित होना चाहिए.

आयोग के एक अधिकारी ने कहा, "चूंकि लोकसभा चुनाव अगले साल होने वाले हैं, ऐसे में यह प्रासंगिक ही है कि चुनाव आयोग सभी दलों से मिलेगा. बैठक के एजेंडे में पेड न्यूज, आचार संहिता का उल्लंघन, भड़काऊ भाषण आदि प्रमुख मुद्दा रहेंगे. चुनाव आयोग दलों को बताएगा कि आम चुनाव से पहले आधुनिक ईवीएम और पेपर ट्रेल मशीनों की खरीद की प्रक्रिया कहां तक पहुंची है."

First published: 27 August 2018, 10:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी