Home » राजनीति » Madhya Pradesh CM Kamalnath Government political CrisiS Jyotiraditya Scindia BJP Congress
 

मध्यप्रदेश में सियासी संकट, 6 मंत्री समेत 20 विधायक पहुंचे बेंगलुरु, कमलनाथ ने बुलाई आपात बैठक

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 March 2020, 23:18 IST

मध्यप्रदेश में एक बार फिर सियासी संकट पैदा हो गया है. खबरों के अनुसार ज्योतिरादित्य सिंधिया के खेमे के 20 विधायक बेंगलुरु पहुंच चुके है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार,जो लोग बेंगलुरु पहुंचे हैं उसमें से छह मौजूदा कमलनाथ सरकार में मंत्री भी है.

एबीपी न्यूज की एक रिपोर्ट के अनुसार, मध्यप्रदेश के ये सभी विधायक तीन अलग अलग चार्टर प्लेन की मदद से दिल्ली से बेंगलुरु पहुंचाए गए हैं. जिन मंत्रियों ने बगावत की हैं उसमें प्रधुम्न सिंह तोमर, तुलसी सिलावट, गोविंद राजपूत, प्रभुराम चौधरी,इमारती देवी, महेंद्र सिसोदिया के नाम सामने आ रहे है.

बताया जा रहा है कि यह सभी मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के खेमे के है. इसके अलावा जो विधायक बागी हुए हैं उसमें राजवर्धन सिंह, ओपीएस भदौरिया, गिरिराज दंडोतिया, बिजेंद्र यादव, जसपाल जज्जी, रणवीर जाटव, कमलेश जाटव, जसवंत जाटव, रक्षा सिरोनिया, मुन्ना लाल गोयल, सुरेश धाकड़, रघुराज कसाना, हरदीप सिंह डंग के नाम शामिल है.

सोमवार को एजेंसी पीटीआई ने रिपोर्ट दी कि सिंधिया 16 विधायकों के साथ लापता हैं. लेकिन अब मिली जानकारी के अनुसार सिंधिया अपने दिल्ली स्थित आवास पर हैं. वहीं बागी विधायक जिनकी संख्या पहले 16 बताई जा रही थी, रिपोर्ट में अब वो 20 तक बताई जा रही है.

इन सब के बीच सिंधिया खेमे के बीच एक विधायक हरदीप सिंह डंग के बारे में जानकारी है कि उन्होंने अपना इस्तीफा विधानसभा स्पीकर को भेज दिया है.वहीं एक अन्य विधायक बेंगलुरु से दिल्ली वापस आ गए है. हालंकि कहा जा रहा है कि वो बीजेपी उन्हें लेकर भरोसे में है कि जब विधायक को कोई आदेश दिया जाएगा तो वो बीजेपी के कहे अनुसार ही चलेंगे और इसीलिए बीजेपी ने उन्हें आने दिया है.

मध्यप्रदेश का यह सियासी ड्रामा ऐसे समय में हो रहा है जब राज्य में तीन सीटों के लिए राज्यसभा के चुनाव है. रिपोर्ट के अनुसार कांग्रेस राज्य की दो सीटों को जीत सकती है. वहीं बीजेपी की इस मौका का पूरा फायदा उठा रही है.रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी के छह विधायक भी बेंगलुरु पहुंचे है.

बता दें, इसके आलाव एक दावा और किया जा रहा है कि बीजेपी कमलनाथ सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव भी लाने की तैयारी कर रही है.गौरतलब हो,मध्य प्रदेश विधानसभा का बजट सत्र 16 मार्च से शुरू हो रहा है और बीजेपी सत्र के पहले दिन की सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी कर रही है.

इस पूरे घटनाक्रम के बीच सोमवार को राज्य के मुख्यमंत्री कमलनाथ दिल्ली आए थे और उन्होंने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की थी लेकिन वो अचानक ही इस बैठक को छोड़कर वापस मध्यप्रदेश आए जहां उन्होंने कांग्रेस ने दिग्गज नेताओं के साथ बैठक की है.

First published: 9 March 2020, 22:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी