Home » राजनीति » Maharashtra: Sonia Gandhi sent Ahad Patel and Kharge to Mumbai to meet Sharad Pawar
 

महाराष्ट्र: सोनिया गांधी ने अहमद पटेल और खड़गे को शरद पवार से मिलने मुंबई भेजा

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 November 2019, 14:18 IST

महाराष्ट्र में तेजी से बदलते घटनाक्रम के मद्देनजर अब राज्यपाल ने शरद पवार की राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी को सरकार बनाने का आमत्रण दिया है. वक्त दिए जाने के 24 घंटे के भीतर एनसीपी को अपना बहुमत साबित करना होगा. इस संबंध में एनसीपी की बैठक चल रही है. माना जा रहा है कि कांग्रेस अभी तक वैचारिक रूप से शिवसेना के साथ आने पर राजी नहीं हुई है. इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मंगलवार को एनसीपी प्रमुख से बात की और पार्टी के तीन वरिष्ठ नेताओं को महाराष्ट्र में सरकार गठन के मुद्दे पर और बातचीत करने के लिए नियुक्त किया है.

कांग्रेस नेता अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे और के सी वेणुगोपाल अब शरद पवार के साथ विचार-विमर्श के लिए मुंबई के लिए रवाना होंगे. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने सरकार बनाने के लिए संभावित सहयोगियों - एनसीपी और कांग्रेस से समर्थन प्राप्त करने के लिए अन्य 48 घंटों के शिवसेना के अनुरोध को खारिज करने के बाद सोमवार शाम को एनसीपी को आमंत्रित किया था.


कल एक चौंकाने वाले घटनाक्रम में केंद्रीय मंत्रिमंडल में शिवसेना के एकमात्र मंत्री अरविंद सावंत ने इस्तीफा दे दिया. जबकि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस का समर्थन लेने के लिए सोनिया गांधी से बात की थी. यहां तक कि शिवसेना ने एनडीए से नाता तोड़ लिया. इससे पहले 24 अक्टूबर-विधानसभा चुनाव के फैसले के बाद 105 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी बीजेपी ने सहयोगी दल द्वारा समर्थन से इनकार करने के बाद सरकार बनाने के दावे से इंकार कर दिया.

इससे पहले सोनिया गांधी ने अपने आवास पर पार्टी की कोर टीम के सदस्यों ए के एंटनी और वेणुगोपाल के साथ बातचीत की. अहमद पटेल ने सरकार गठन पर एनसीपी के साथ काम करने के तौर-तरीकों पर पवार के साथ टेलीफोन पर बातचीत की. खड़गे ने पहले कहा था कि पार्टी नेतृत्व पवार के संपर्क में है और महाराष्ट्र सरकार के गठन पर राकांपा के साथ आगे की चर्चा कर रहा है.

महाराष्ट्र के बाद अब झारखंड में लगा बीजेपी को झटका, लोजपा 50 सीटों पर उतारेगी उम्मीदवार

First published: 12 November 2019, 13:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी