Home » राजनीति » mahesh girri bjp mp of east delhi plans vedic yagya at red fort to counter conspiracies, rashtriya raksha mahayagya
 

भारत के खिलाफ साजिशों को रोकने के लाल किले में होगा 'महायज्ञ'

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 January 2018, 16:01 IST

देश में भले ही बेरोजगारों की संख्या तेजी से बढ़ रही हो या अपराध के मामले कम नहीं हो रहे हों लेकिन अब भाजपा सांसद लाल किले पर यज्ञ करवाएंगे. इसके लिए वह घर-घर से घी मांगने की भी तैयारी कर रहे हैं. बीजेपी सांसद महेश गिरी ने 'भारतीय रक्षा महायज्ञ' की तैयारी भी शुरू कर दी है. हिंदू नववर्ष के मौके पर आठ दिनों तक चलने वाले इस महायज्ञ में शामिल होने के लिए राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत सभी देशों के दूतावासों को भी न्योता भेजा गया है.

दिल्ली के लालकिला मैदान पर 18 से 25 मार्च तक होने वाले राष्ट्र रक्षा महायज्ञ की तैयारी चल रही है. पूर्वी दिल्ली से बीजेपी सांसद और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय सचिव महेश गिरी ने भारत के खिलाफ हो रहीं साजिशों को रोकने के लिए लाल किले के आठ एकड़ लॉन में आठ दिवसीय वैदिक यज्ञ कराने की घोषणा की है.

उन्होंने सोमवार को बताया कि भारतीय रक्षा महायज्ञ का आयोजन भाजपा द्वारा आयोजित नहीं किया जा रहा है बल्कि दिल्ली के श्री योगी पीठथाम ट्रस्ट की मदद से किया जा रहा है. इसी सिलसिले में महेश गिरी की मौजूदगी में एक बड़ी सी स्क्रीन पर एक फ़िल्म दिखाई गई. ये फिल्म राष्ट्र रक्षा महायज्ञ की तैयारी से जुड़ी हुई थी.

महेश गिरी ने बताया कि 8 मार्च से 25 मार्च तक चलने वाले इस महोत्सव में 1111 वैदिक विद्या में निपुण ब्राह्मण मां पराम्बा भगवती बगलामुखी 108 कुण्डीय राष्ट्र रक्षा महायज्ञ करेंगे. महायज्ञ में हिस्सा लेने के लिए देश भर से आध्यात्मिक गुरु आएंगे और सवा दो करोड़ मंत्रों का मंत्रोच्चार करेंगे. गिरी ने कहा कि इससे समूचे देश में भारतीयता एवं सांस्कृतिक अखण्डता की ऊर्जा का प्रसार होगा.

15 एकड़ क्षेत्र में फैली इस ‘राष्ट्र रक्षा महायज्ञ नगरी’ का निर्माण मुंबई के रहने वाले प्रसिद्ध भारतीय कला निर्देशक नितिन चन्द्रकांत देसाई द्वारा किया जाएगा. महेश गिरी ने कहा, ‘राष्ट्र रक्षा महायज्ञ एक अनुष्ठान है, जिसका उद्देश्य हमारे देश की सुरक्षा, समृद्धि और प्रगति को प्रत्येक नागरिक का अटूट हिस्सा बनाना है. हम चाहते हैं कि देश भक्ति की भावना और राष्ट्र के प्रति समर्पण हर नागरिक की जीवन शैली का एक अभिन्न भाग बन जाए.’

इस यज्ञ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, बड़े-बड़े नेता, उद्योगपति और सिलेब्रिटीज हिस्सा लें सकते हैं. गिरी ने कहा कि कुछ आंतरिक और बाहरी ताकतें देशहित हो नुकसान पहुंचाने की कोशिश में जुटी हैं, हम इस यज्ञ के जरिए ऐसी ताकतों को रोकना चाहते हैं.

First published: 23 January 2018, 16:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी