Home » राजनीति » Mamata banerjee meet president on Note ban issue
 

नोटबंदी: ममता ने फिर लगाई राष्ट्रपति से गुहार, वापस हो तुगलकी फरमान

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 November 2016, 9:53 IST
(एजेंसी)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के फैसले के खिलाफ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को एक बार फिर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात की और उनसे इस मामले में हस्तक्षेप की दोबारा मांग की.

ममता बनर्जी ने पीएम मोदी की तुलना हिटलर से करते हुए राष्ट्रपति से कहा कि 500 और 1000 रुपये के नोटो को बंद करने के निरंकुश निर्णय ने किसानों, दिहाड़ी मजदूरों और छोटे व्यापारियों को पूरी तरह से बर्बाद कर दिया है.

राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद बंगाल की सीएम बनर्जी ने कहा कि तुगलकी फैसले के कारण पूरा देश कष्ट सह रहा है.

उन्होंने कहा कि चाय बगान के कामगारों से लेकर दिहाड़ी मजदूर और छोटे व्यापारी तक सभी सड़क पर आ गए हैं. इस एक गलत फैसले की वजह से लोग भूखे मर रहे हैं. जनता आर्थिक संकट झेल रही है, लेकिन सरकार को इससे कोई फर्क नहीं पड़ रहा है.

ममता बनर्जी के मुताबिक पिछले 15 दिनों में सकल घरेलू उत्पाद को कई लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. यदि देश की अर्थव्यवस्था में यह घाटा इसी तरह से जारी रहा तो बहुत जल्द ही इसका नकारात्मक प्रभाव देखने को मिलेगा.

First published: 25 November 2016, 9:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी