Home » राजनीति » Manmohan Singh asked me if I should tear Rahul Gandhi's ordinance in Parliament, should I resign?
 

'संसद में राहुल गांधी के अध्यादेश फाड़ने पर मनमोहन सिंह ने मुझसे पूछा था, क्या मुझे इस्तीफा दे देना चाहिए'

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 February 2020, 9:12 IST

योजना आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलूवालिया ने एक बड़ा खुलासा करते हुए कहा है कि 2013 में राहुल गांधी के अध्यादेश फाड़ने वाले प्रकरण के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने उनसे पूछा था कि क्या उन्हें लगता है कि उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए. अहलूवालिया का कहना है कि उन्होंने सिंह, जो उस समय अमेरिका की यात्रा पर थे, से कहा कि इस मुद्दे पर उनका इस्तीफा देना उचित नहीं है. अहलूवालिया ने अपनी नई पुस्तक" बैकस्टेज: द स्टोरी ऑफ़ इंडियाज़ हाई ग्रोथ इयर्स "में इन बातों का खुलासा किया है.

गौरतलब है कि अपनी ही सरकार के लिए उस वक्त राहुल गांधी ने बड़ी शर्मिंदगी वाली स्थिति में डाल दिया था. दोषी करार दिए गए सांसदों पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को निष्प्रभावी करते हुए यूपीए सरकार द्वारा लाए गए विवादास्पद अध्यादेश की राहुल गांधी ने आलोचना की थी और सरकार के लिए असहज स्थिति पैदा कर दी थी. राहुल गांधी ने अध्यादेश को पूरी तरह से बकवास बताया था.

उन्होंने कहा था कि इसे फाड़कर फेंक देना चाहिए. अमेरिका से स्वदेश लौटने के बाद सिंह ने अपने इस्तीफे की बात से इनकार किया था. हालांकि वे पूरे प्रकरण पर नाराज दिखे. मोंटेक सिंह ने कहा ''मैं न्यूयॉर्क में प्रधानमंत्री के प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा था और मेरे भाई संजीव, जो आईएएस से सेवानिवृत्त हुए थे, ने यह कहने के लिए फोन किया था कि उन्होंने एक आलेख लिखा था जिसमें प्रधानमंत्री की कटु आलोचना की गई थी. उन्होंने मुझे इसे ईमेल किया था और उम्मीद जताई थी कि मुझे यह शर्मनाक नहीं लगेगा.''

अपनी किताब में अहलूवालिया ने लिखा ''मैंने पहला काम ये किया कि इस आलेख को लेकर मैं प्रधानमंत्री के पास गया क्योंकि मैं चाहता था कि वह पहली बार मुझसे इसे सुनें. उन्होंने इसे चुपचाप पढ़ा और पहले उन्होंने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी. इसके बाद, उन्होंने अचानक मुझसे पूछा कि क्या मुझे लगता है कि उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए.'' उन्होंने कहा, 'मैंने कुछ समय के लिए इसके बारे में सोचा और कहा कि मुझे नहीं लगता कि इस मुद्दे पर इस्तीफा देना उचित है. मुझे विश्वास था कि मैंने उन्हें उचित सलाह दी है.''

 

शपथ ग्रहण में नहीं पहुंचे PM मोदी तो केजरीवाल ने मंच से जो कहा वो आपको जरूर जानना चाहिए 

 

First published: 17 February 2020, 9:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी