Home » राजनीति » Manoj Tiwari demands NRC in Delhi, says situation dangerous
 

मनोज तिवारी ने की दिल्ली में भी NRC लाने की मांग, कहा स्थिति हो चुकी है खतरनाक

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 August 2019, 16:05 IST

भारतीय जनता पार्टी के नेता मनोज तिवारी ने देश की राजधानी दिल्ली अवैध प्रवासियों की पहचान करने के लिए NRC लाने की मांग की है. असम में अंतिम NRC प्रकाशित होने के कुछ घंटों बाद मनोज तिवारी ने यह टिप्पणी की है. अंतिम सूची में 19 लाख से अधिक लोगों को बाहर रखा गया है. तिवारी ने कहा कि दिल्ली में स्थिति इतनी खतरनाक होती जा रही है कि एनआरसी का होना जरूरी है.

अगले साल दिल्ली में विधानसभा चुनाव होने हैं और मनोज तिवारी दिल्ली में बीजेपी के अध्यक्ष हैं. तिवारी ने कहा वक्त आने पर हम दिल्ली में एनआरसी लागू करेंगे. मनोज तिवारी के बयान की कांग्रेस की महिला विंग ने आलोचना की है. कांग्रेस ने कहा ''मनोज तिवारी जी का जन्म कैमूर बिहार में हुआ, वाराणसी, यूपी में उन्होंने पढ़ाई की है और मुंबई, महाराष्ट्र में काम किया है, यूपी के गोरखपुर में चुनाव लड़ा, फिर दिल्ली में चुनाव लड़ा, वह दिल्ली से अप्रवासियों को फेंकने की बात कर रहे हैं''.

यह पहली बार नहीं है जब मनोज तिवारी ने इस तरह की मांग की है. पूर्वी दिल्ली के भाजपा सांसद ने मई में कहा था कि अगर लोगों को अवैध रोहिंग्या प्रवासियों के हमले के डर के बिना जीना है तो, एनआरसी को राष्ट्रीय राजधानी में लागू किया जाना चाहिए. एनआरसी के लिए तिवारी की मांग भाजपा के रुख के अनुरूप है. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने लोकसभा चुनावों के लिए चुनाव प्रचार करते हुए अघोषित अप्रवासियों को दीमक" कहा था.

प्रतीक हजेला: NRC के कोऑर्डिनेटर, खुद इनका भी नाम था लिस्ट से बाहर

First published: 31 August 2019, 16:05 IST
 
अगली कहानी