Home » राजनीति » manoj tiwari in army dress at party rally in new delhi
 

सेना की वर्दी में चुनाव प्रचार करने पर बुरे फंसे मनोज तिवारी, फिर दी ये सफाई

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 March 2019, 12:27 IST

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने शनिवार को सेना की वर्दी पहनकर दिल्ली के यमुना विहार इलाके में भारतीय जनता पार्टी की बाइक रैली की शुरुआत की, जिसके बाद सभी विपक्षी पार्टियों ने मनोज तिवारी की कड़ी निंदा कर रही हैं. विपक्षियों ने कहा सेना के नाम पर राजनीति करना शर्मनाक है.

कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने ट्वीट कर लिखा कि मनोज तिवारी की यह हरकत शर्मनाक है. एक सैनिक वर्दी की गरिमा और सम्मान को बनाए रखने के लिए अपने जीवन का बलिदान करता है और बीजेपी सांसद मनोज तिवारी इसे तमाशा में बदलकर स्टंट और सस्ती राजनीति का सहारा ले रहा है.

वहीं, TMC के सांसद डेरेक ऑबरायन ने ट्वीट पर लिखा, "बीजेपी सांसद और दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी सशस्त्र बल की वर्दी पहने और वोट मांगते हुए दिखाई दिए. बीजेपी-मोदी-शाह हमारे जवानों का अपमान और राजनीतिकरण कर रहे हैं. और फिर देशभक्ति पर व्याख्यान दे रहे हैं.

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विपक्षी दलों पर दिए गए बयानों को याद दिलाते हुए ट्वीट किया. मालूम हो कि इससे पहले विपक्षी नेताओं ने दिल्ली में बैठक की थी, जिसके बाद बयान कर कहा था कि बीजेपी शहीद जवानों के नाम पर राजनीति बंद करेंं.

 

सोशल मीडिया पर भी इसे लेकर मनोज तिवारी की जमकर आलोचना हुई. जिसके बाद मनोज तिवारी ने ट्विटर पर अपनी सफाई दी. सफाई में उन्होंने ट्वीट कर लिखा, "मैंने सेना की वर्दी इसलिए पहनी क्योंकि मुझे मेरी सेना पर गर्व है. मैं भारतीय सेना में नहीं हूं लेकिन मैं एकजुटता की अपनी भावना को व्यक्त कर रहा था. इसे अपमान की तरह क्यों लिया जाए? मैं हमारी सेना का सबसे ज़्यादा सम्मान करता हूं. इस तर्क से तो अगर कल को मैं नेहरू जैकेट पहन लूं तो क्या वह जवाहरलाल नेहरू का अपमान हो जाएगा?"

Air Strike को लेकर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का बड़ा दावा

 

First published: 4 March 2019, 12:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी