Home » राजनीति » Opposition protest is against 125 crore people of the country who have whole heartedly supported demonetization: Jitendra Singh
 

नोटबंदी: संसद में जारी घमासान, पीएम मोदी दे सकते हैं बयान

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 November 2016, 11:57 IST
(राज्यसभा टीवी)

संसद के शीतकालीन सत्र में नोटबंदी पर हंगामा थमता नहीं दि  रहा है. दोनों सदनों की कार्यवाही के दौरान विपक्ष ने जमकर हंगामा मचाया. इस बीच बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले की एक बार फिर तीखी आलोचना की है. लेफ्ट पार्टियों ने आज नोटबंदी के विरोध में 12 घंटे का भारत बंद बुलाया है.

जब बसपा सुप्रीमो से इस मुद्दे पर सवाल पूछा गया, तो उन्होंने कहा, "बीजेपी कह रही है कि विपक्ष ने भारत बंद बुलाया है, लेकिन हकीकत यह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विमुद्रीकरण के कदम के जरिए पहले ही भारत बंद कर दिया है." 

संसद में हंगामा जारी

मायावती ने इस दौरान बीजेपी की बिहार में लैंडडील और पार्टी के खाते में बड़ी रकम जमा करने पर निशाना साधते हुए पिछले 10 महीनों के दौरान हुए लेन-देन का ब्यौरा सार्वजनिक करने की मांग की. 

इस बीच संसद में नोटबंदी के मुद्दे पर हंगामा जारी है. राज्यसभा और लोकसभा की कार्यवाही के दौरान विपक्षी सदस्यों ने एक बार फिर नारेबाजी की. जिसके बाद राज्यसभा की कार्यवाही को आधे घंटे और लोकसभा की कार्यवाही को 12 बजे तक के लिए स्थगित करना पड़ा.

राजनाथ ने पीएम के बयान के दिए संकेत

दोनों सदनों की कार्यवाही जब दोबारा शुरू हुई, तो एक बार फिर विपक्ष ने हंगामा मचाना शुरू कर दिया. हंगामे को बढ़ता देखकर लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही को दोपहर दो बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया.

राज्यसभा में लंच के बाद एक बार फिर विपक्ष ने हंगामा मचाया. इस दौरान सदस्य वेल के पास पहुंच गए, जिसके बाद कार्यवाही को मंगलवार सुबह 11 बजे के लिए स्थगित कर दिया. इस बीच खबर है कि पीएम नरेंद्र मोदी नोटबंदी पर संसद में बयान दे सकते हैं. केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, "पीएम डिबेट में आएंगे और जरूरत पड़ने पर हस्तक्षेप भी करेंगे."

हंगामे के दौरान केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने विपक्ष पर निशाना साधा. नकवी ने कहा कि दिक्कत यही है कि विपक्षी सदस्य सुनना नहीं चाहते, बस सुनाना चाहते हैं.

विपक्षी नेताओं से मिले जेटली-राजनाथ

इन सबके बीच विपक्ष का पीएम मोदी पर हमला जारी है. सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने पीएम पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री संसद का सामना नहीं कर रहे हैं, जबकि दूसरे देशों में जाकर बोलते हैं.

वहीं संसद में जारी गतिरोध को दूर करने के लिए सरकार ने पहल की है. वित्त मंत्री अरुण जेटली और गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने विपक्ष के नेताओं से मुलाकात की है. इस दौरान सरकार की तरफ से भरोसा दिलाया गया कि पीएम मोदी संसद में इस मुद्दे पर चर्चा में हिस्सा लेंगे.

पीएम की माफी पर अड़ा विपक्ष

विपक्ष पीएम मोदी के संसद के बाहर दिए गए बयान पर माफी मांगने पर भी अड़ा हुआ है. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि प्रधानमंत्री को संसद में आकर विपक्षी सदस्यों से बात करनी चाहिए. 

इस बीच सरकार ने विपक्ष के रवैए पर सवाल उठाए हैं. संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा, "काले धन के खिलाफ आक्रोश होना चाहिए, लेकिन अफसोस इस बात का है कि विपक्ष की बुद्धि उल्टी चल रही है." 

'125 करोड़ लोगों के खिलाफ प्रदर्शन'

अनंत कुमार ने साथ ही बहस पर सहमति जताते हुए कहा, "विपक्ष को संसद के दोनों सदनों में चर्चा करनी चाहिए. हम तैयार हैं. वे क्यों भाग रहे हैं?"

वहीं पीएमओ में राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि विपक्ष का विरोध प्रदर्शन देश की 125 करोड़ जनता के खिलाफ है, जिसने नोटबंदी के सरकार के फैसले का खुले दिल से समर्थन किया है.

First published: 28 November 2016, 11:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी