Home » राजनीति » Modi answer to Rahul Gandhi: The speech that I was seeing I do not think it was ignorant
 

मोदी का राहुल गांधी को जवाब: न मुझे कोई उठा सकता है न ही कोई गिरा सकता है

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 July 2018, 21:54 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकसभा में विपक्ष द्वारा उठाये गए सवालों का जवाब दिया. उन्होंने कहा कि सब सोच रहें हैं कि ये अविश्वास प्रस्ताव क्यों लाया गया? पीएम मोदी ने कहा ''मोदी ने कहा हमको  तो अपनी  बात  कहने  का  मौका  मिल ही रहा है पर देश को यह भी देखने को मिला है की  कैसी नकारात्मक राजनीति ने कुछ लोगों को घेर के रखा हुआ है, कैसे विकास के प्रति विरोध का भाव है''.

पीएम मोदी ने राहुल गांधी को जवाब देते हुए कहा कि ''जो भाषण मैं देख रहा था मुझे नहीं लगता कि यह अज्ञानवश हुआ. जिन्हें यहां पहुंचने का उत्साह है. मुझे उठने के लिए कहा. यहां न कोई उठा सकता है न बैठा सकता है. यहां सवा सौ करोड़ देशवासियों का आशीर्वाद चाहिए. 

पीएम मोदी ने कहा ''लोकतंत्र में लोकतांत्रिक प्रणालियों पर भरोसा होना चाहिए. अविश्वास प्रस्ताव ये बताता है कि इस देश में लोकतंत्र जिंदा है. लोकतंत्र में जनता भाग्य विधाता होती है. पीएम मोदी ने कहा ''हमने 18 हजार गांवों में बिजली पहुंचाई. पूर्वी-उत्तर भारत के 15 गांवों में बिजली पहुंचाने का काम किया. इसपर भी विपक्ष को विश्वास नहीं.''

पीएम ने विपक्ष के द्वारा उठाए गए मुद्दों पर विपक्ष को घेरा, बोले 'सरकार ने 8 करोड़ शौचालय बनवाए. 2 साल में 5 करोड़ से ज्यादा लोग गरीबी से बाहर आएं है. मोबाइल फोन बनाने वाली कंपनियां 2 थी.

इससे पहले विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने प्रधानमंत्री मोदी पर बीते चार सालों में अपने वाले पूरे न करने के आरोप लगाए. रोजगार देने, किसानों का कर्ज माफ़ करने और महिलाओं की सुरक्षा को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर तीखा हमला बोला था. इसी कड़ी में कोंग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि इस देश में 6 लाख 33 हजार गांव हैं अपने जिसमे से 6 लाख 18 हजार गांवों में हमने बिजली पहुंचाई. क्या यह 70 सालों में कांग्रेस की उपलब्धि नहीं है.

 

First published: 20 July 2018, 21:38 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी