Home » राजनीति » modi giverment will make uid for cow should be made mandatory in india.
 

गो तस्करी रोकने के लिए मोदी सरकार गायों का भी बनाएगी आधार कार्ड

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 April 2017, 16:24 IST
(प्रतीकात्मक )

मोदी सरकार ने सीमा पार हो रही गाय और पशुओं की तस्करी को रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक रिपोर्ट सौंपी हैै. जिसमें सरकार ने अदालत को बताया कि उसने सचिव, गृह मंत्रालय की अध्यक्षता में समिति का गठन किया है. इस समिति ने इस मामले पर में कुछ सिफारिशें की हैं. इन सिफारिशों में गाय के लिए अद्वितीय पहचान संख्या (UID) की भी मांग की गई है. सरकार का कहना है कि इससे गाय की तस्करी पर बड़ी रोक लग सकती है.

समिति की रिपोर्ट में कहा गया है भारत में प्रत्येक गाय और उसकी संतान की एक अद्वितीय पहचान संख्या (UID) होनी चाहिए, ताकि उनकी तस्करी होने पर उन्हें ट्रेस किया जा सके. यूआईडी नंबर में गाय की उम्र, नस्ल, लिंग, स्तनपान, ऊंचाई, शरीर, रंग, सींग प्रकार, पूंछ स्विच और जानवरों के विशेष अंकों की जानकारी होगी. रिपोर्ट में कहा गया है कि गाय और इसकी संतान के लिए यूआईडी देशभर में अनिवार्य होनी चाहिए.

गौरतलब है कि गोमांस की सबसे बड़ी मांग वाला देश बांग्लादेश है. बांग्लादेश में भारतीय गायों की मुंह मांगी कीमत मिलती है. बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स यानी बीएसएफ के मुताबिक भारत से हर साल करीब साढ़े तीन लाख गायों को चोरी छिपे बांग्लादेश सीमा पार करवाकर बेचा जाता है. तस्करी का सालाना कारोबार 15 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का है. असम गाय तस्करी का हॉट स्पॉट है. यहां से बांग्लादेश की करीब 263 किलोमीटर लंबी सीमा लगती है. यही बॉर्डर असम से गायों को बांग्लादेश पहुंचाने का रूट बनता है.

First published: 24 April 2017, 16:24 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी