Home » राजनीति » Mohan bhagwat: RSS is like a adiction, people can't away
 

मोहन भागवत: संघ ऐसी तलब कि जो इसके आदी हो गए कहीं नहीं जाते

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 December 2016, 10:59 IST
(फाइल फोटो)
QUICK PILL

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने संघ को दुनिया में मानव विकास का सबसे अनूठा मॉडल बताते हुए कहा कि लोग अपनी इच्छा से संघ में शामिल होने या इसे छोड़ने के लिए स्वतंत्र हैं, लेकिन इस संगठन को समझने के लिए व्यक्ति को खुले विचार का होना चाहिए.

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की स्थापना के 90 साल पूरे होने के मौके पर दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में भागवत ने कहा, "आरएसएस को समझने के लिए प्रयास करना महत्वपूर्ण है, लेकिन आरएसएस को समझने के लिए व्यक्ति को खुले विचार का होना चाहिए और उसके भीतर जिज्ञासा होनी चाहिए."

इस मौके पर मोहन भागवत ने संघ को एक लत बताते हुए कहा कि जो इसके आदी हो जाते हैं, वे कहीं और नहीं जा सकते. भागवत ने कहा कि यही वजह है कि कुछ लोग इस संगठन में शामिल नहीं हो सकते. कोई भी अपनी इच्छा से इसमें शामिल होने या इसे छोड़ने को स्वतंत्र है.

First published: 2 December 2016, 10:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी