Home » राजनीति » monsoon session day one of Parliament: Samajwadi Party and Telugu Desam Party MPs protest in the well of the House in Lok Sabha lok sabha an
 

जोरदार हंगामें के साथ शुरू हुआ संसद का मानसून सत्र, सपा-TDP ने सदन में की नारेबाजी

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 July 2018, 13:03 IST
(file photo )

संसद का मॉनसून सत्र आज यानी बुधवार से शुरू हो गया है. सरकार ने संसद में 46 विधेयकों को एजेंडे में रखा गया है, जिसमें तीन तलाक, भगौड़ा आर्थिक अपराधी और स्टेट बैंक निरसन जैसे विधेयक शामिल हैं. संसद के मानसून सत्र की शुरुआत जोरदार हंगामे के साथ हुई है. विपक्षी पार्टियों ने संसद के दोनों सदनों में दलित और मॉब लिंचिंग को लेकर सरकार को घेरने की कोशिश की जा रही है. 

समाजवादी पार्टी और तेलगू देशम पार्टी के सांसदों ने दलित और मॉब लिंचिंग के मुद्दों पर चर्चा कराने की मांग करते हुए   लोकसभा में हंगामा शुरू कर दिया. सपा और टीडीपी सांसदों ने वेल में खड़े होकर नारेबाजी शुरू कर दी, संसद के दोनों सदनों में जोरदार हंगामा शुरू हो गया है.

 

मीडिया खबरों के अनुसार, लोकसभा में उत्तराखंड बस हादसा, अफगानिस्तान में आतंकी हमलों की निंदा की गई, साथ ही दिवंगतों के प्रति मौन रखकर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई. सत्र शुरू होने के कुछ देर बाद लिंचिंग के मामले को लेकर हंगामा शुरू हो गया. कांग्रेस सहित विपक्षी पार्टियों ने लिंचिंग के मुद्दे पर चर्चा कराने की मांग की. वहीं, टीडीपी ने आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग उठाई. वहीं, कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किसानों के मुद्दे पर सरकार को घेरने की कोशिश की. लोकसभा में टीडीपी और वाईएसआर कांग्रेस के सांसद सदन में जमकर नारेबाजी कर रहे हैं. आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य के दर्जे की मांग की. वहीं, सीपीएम ने सदन में दलित और ओबीसी का मुद्दा उठाया.

कांग्रेस सांसद ज्योदिरादित्य सिंधिया ने लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान सवाल पूछने के बीच में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की बात कही. उन्होंने कहा कि ये सरकार किसानों की आत्महत्या और महिलाओं के साथ बलात्कार रोकने में नाकाम रही है. सीपीएम सांसद मो. सलीम ने किसानों के मुद्दे पर चर्चा की मांग की.

राज्यसभा में भी हुआ हंगामा

सत्र शुरू होने के साथ ही राज्यसभा में भी जोरदार हंगामा देखने को मिला. सभापति वेंकैया नायडु हंगामा कर रहे सांसदों को शांत कराने की कोशिश की. नायडु ने कहा कि सासंदों को जो भी बात सदन में कहनी है वह उसके लिए नियमों का पालन करें, सीधे खड़े होकर कोई भी मुद्दे न उठाएं. नायडु ने कहा कि टीडीपी सांसद सीएम रमेश की ओर से दिए गए मुद्दे को मंत्री से बात कर सदन में उठाया जाएगा, जबकि सांसद सदन में तत्काल आंध्र के मुद्दे पर चर्चा चाहते हैं. लेकिन जब हंगामा शांत नहीं हुआ तो सदन को 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया. इसके फिर से सदन शुरू हो गया है.

ये भी पढ़ें-  लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव मंजूर

First published: 18 July 2018, 12:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी