Home » राजनीति » Monsoon Session: No-confidence motion vote on friday against Modi govt. Congress seeks change of date
 

मोदी सरकार की लोकसभा में पहली अग्निपरीक्षा, अविश्वास प्रस्ताव पर शुक्रवार को होगी चर्चा

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 July 2018, 16:19 IST

लोकसभा में कांग्रेस, टीडीपी सहित विपक्षी पार्टियों द्वारा मोदी के सरकार के खिलाफ पेश किए गए अविश्वास प्रस्ताव पर शुक्रवार को चर्चा होगी. इस दौरान सभी पार्टियों ने अपने अपने सांसदों को सदन में मौजूद रहने के लिए कहा है. मोदी सरकार के खिलाफ ये पहला अविश्वास प्रस्ताव है. जिस पर चर्चा की जाएगी.

बता दें कि बुधवार को संसद का मानसून सत्र के शुरू होने के साथ ही दोनों सदनों में जोरदार हंगामा सुरू हो गया. कांग्रेस, टीडीपी सहित सभी विपक्षी पार्टियों ने दलित और मॉब लिंचिंग के मुद्दों को लेकर सरकार को घेरने की कोशिश की. समाजवादी पार्टी और टीडीपी के सांसदों ने लोकसभा में नारेबाजी शुरू की.

टीडीपी ने लोकसभा में आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग की तो, कांग्रेस ने किसानों के मुद्दे को उठाया. वहीं, चर्चा के दौरान कांग्रेस और टीडीपी ने मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश कर दिया. जिसको लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने मंजूर कर लिया है.

संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा है कि अविश्वास प्रस्ताव का अहम मुद्दा है. सभी काम छोड़कर चर्चा के दिन सांसदों को सदन में मौजूद रहना चाहिए. इस पर कांग्रेस ने गुरुवार को ही प्रस्ताव पर चर्चा कराने की मांग की. दोनों नेताओं के बीच इस मुद्दे पर तीखी बहस भी हुई. हालांकि इसके बाद शुक्रवार का दिन चर्चा के लिए तय किया गया है. मोदी सरकार के खिलाफ संसद में ये पहला अविश्वास प्रस्ताव है. जिस पर लोकसभा में शुक्रवार को सुबह 11 बजे से शाम 6 बजे तक चर्चा की जाएगी.

दूसरी तरफ कांग्रेस ने शुक्रवार को अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा कराने को लेकर विरोध जताया.लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि शुक्रवार को 30-35 सांसद सदन में नहीं रहेंगे. ऐसे में अविश्वास प्रस्ताव पर प्रस्तावित चर्चा को सोमवार को कराया जाए. हालांकि स्पीकर ने इस पर अभी तक रुख साफ नहीं किया है. टीएमसी ने भी शुक्रवार की जगह सोमवार को चर्चा कराने की मांग की है.

अविश्वास प्रस्ताव पेश किए जाने से पहले कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने लोकसभा में कहा कि 'जिस सरकार के राज में किसानों ने खुदकुशी की, जिसके राज में महिलाओं से रोज़ाना बलात्कार होते हैं. हम आपके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव रखते हैं. वहीं, सपा संरक्षक मुलायाम सिंह यादव ने कहा कि हम अविश्‍वास प्रस्‍ताव का समर्थन करते हैं. हमने संसद में भी आज इसका समर्थन किया है. सरकार और विपक्ष दोनों ने शुक्रवार को अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के लिए पूरी तैयारी कर ली है. बीजेपी ने व्हिप जारी कर सभी सांसदों से संसद में रहने को कहा है.

ये भी पढ़ें-  लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव मंजूर

First published: 18 July 2018, 16:19 IST
 
अगली कहानी