Home » राजनीति » MP: CM Shivraj Singh Chauhan meets kin of farmers killed in police firing in mandsaur.
 

मंदसौर: पुलिस फायरिंग में मारे गए किसानों के परिजनों से 8 दिन बाद मिले शिवराज

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 June 2017, 13:43 IST

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बुधवार को किसान आंदोलन के दौरान पुलिस फायरिंग में मारे गए किसानों के परिजनों से मिलने के लिए मंदसौर के बड़वन गांव पहुंचे. शिवराज ने मृतक किसानों के परिवार वालों से मुलाकात की. इस दौरान पीड़ित परिजनों ने सीएम के सामने इंसाफ की मांग रखी.

परिजनों का कहना है कि सरकार घनश्याम धाकड़ के 5 साल के बेटे और 2 महीने की बेटी की पढ़ाई की पूरी जिम्मेदारी ले. साथ ही परिजनों ने मांग की है कि सरकार उन पुलिस वालों पर आपराधिक केस दर्ज करे, जिन्होंने घनश्याम की पिटाई की. इसके अलावा उन्होंने मांग की है कि गांव के जिन अन्य किसानों को जेल में बंद किया गया है, उन्हें रिहा किया जाए.

6 किसानों की हुई थी मौत  

6 जून को को मंदसौर में आंदोलन कर रहे किसानों पर पुलिस ने फायरिंग कर दी थी. इस दौरान वहां मौजूद 5 किसानों की मौत हो गई थी. पुलिस की पिटाई से जख्मी एक किसान आंदोलनकारी ने बाद में दम तोड़ दिया था. किसानों की मौत के बाद आंदोलन ने राज्य में कई जगह हिंसक रूप ले लिया था.

शिवराज ने किया था उपवास

किसानों की मौत के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को भोपाल के भेल दशहरा ग्राउंड में शांति उपवास शुरू किया था. इस दौरान उनकी किसानों और प्रतिनिधियों से बातचीत हुई. शिवराज ने किसानों के लिए कई एलान करते हुए कहा था कि किसानों का सारा प्याज 8 रुपये किलो की दर से खरीदा जाएगा. रविवार को शिवराज ने उपवास खत्म कर दिया था.

मंगलवार को गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल और कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मंदसौर गए थे, लेकिन उन्हें वहां गिरफ्तार कर लिया गया था. बाद में उन्हें छोड़ दिया गया था. ज्योतिरादित्य सिंधिया भी आज से सत्याग्रह कर रहे हैं.

First published: 14 June 2017, 13:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी