Home » राजनीति » Navjot Singh Sidhu acquitted in 1988 road rage case by Supreme Court
 

रोड रेज केस: सुप्रीम कोर्ट ने 1000 जुर्माना लगाकर सिद्धू को किया बरी, बने रहेंगे मंत्री

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 May 2018, 12:39 IST

1988 के रोड रेज मामले में कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को सुप्रीम कोर्ट से राहत मिल गई है. 30 साल पुराने इस मामले में कांग्रेस नेता सिद्धू को मामूली मारपीट का आरोपी पाया है. कोर्ट के फैसले के मुताबिक सिद्धू को जेल नहीं होगा, लेकिन उनपर एक हजार रुपये का जुर्माना लगाया है.

ये भी पढ़ें-देश की 69 फीसदी आबादी पर अब BJP का राज, महज 2.49 फीसदी पर सिमटी कांग्रेस

बता दें कि सिद्धू ने इस मामलें में एक याचिका दायर की थी. इस याचिका में उन्होनें कहा था कि वह निर्दोष हैं और उन्हें फंसाया गया है. इसके जवाब में सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षों को 24 अप्रैल तक लिखित जवाब दाखिल करने को कहा था. 

आज मामलें की सुनवाई के दौरान सिद्धू ने अपनी तरफ से कहा कि इस मामले में कोई भी गवाह खुद से सामने नहीं आया, जिन भी गवाहों के बयान दर्ज किए गए है उनको पुलिस सामने लाई थी. गवाहों के बयान विरोधाभासी है, जो भी मुख्य गवाह है उनके बयान एक दूसरे से अलग है.

ये भी पढ़ें-कर्नाटक चुनाव रिजल्ट Live: जेडीएस बन सकती है किंग मेकर, बीजेपी चमत्कारिक आंकड़े की ओर

आपको बता दें, पिछली सुनवाई में पंजाब सरकार की तरफ से बहस पूरी हो गई थी. इसके बाद पंजाब सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा हाई कोर्ट के फैसले को बहाल रखा जाए. गौरतलब है कि इस मामलें में हाईकोर्ट ने सिद्धू को 3 साल की सजा सुनाई थी. साथ हीं सरकार ने तीन साल की सज़ा को सही भी बताया था.

First published: 15 May 2018, 12:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी