Home » राजनीति » Note ban: RSS given his full support on Modi decision
 

नोटबंदी को सफल बनाने के लिए संघ ने झोंकी पूरी ताकत

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 November 2016, 12:26 IST
(पीटीआई)

नोटबंदी पर जहां मोदी सरकार को विपक्ष के कड़े हमले झेलने पड़ रहे हैं, वहीं बीजेपी के मार्गदर्शक संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने पीएम मोदी के इस आर्थिक और सियासी फैसले को सफल बनाने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी है.

संघ के संगठन भारतीय मजदूर संघ ने जहां अपने समर्थक मजदूरों से कहा है कि वे विपक्षी दलों के किसी भी तरह के झांसे में न आएं.

इस मामले में एक हिंदी दैनिक से बात करते हुए बीएमएस के राष्ट्रीय महासचिव बृजेश उपाध्याय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा किया गया नोटबंदी का कदम सराहनीय है. इस फैसले से देश में फैला कालाधन पूरी तरह से खत्म हो जाएगा.

नोटबंदी पर संघ के अन्य संगठनों ने भी मोदी सरकार के फैसले का स्वागत किया है. नोटबंदी के मुद्दे पर सरकार के साथ मतभेद की खबरों को खारिज करते हुए स्वदेशी जागरण मंच ने कहा है कि 500 और 1000 के नोट को बंद करने की लंबे अरसे से उसकी मांग थी. जिसे आखिरकार केंद्र सरकार ने स्वीकार कर लिया.

वहीं स्वदेशी जागरण मंच ने भी इस फैसले का स्वागत किया है. मंच के राष्ट्रीय सह संयोजक अश्विनी महाजन ने कहा है कि सरकार का कदम बेहद सराहनीय है.

सरकार को कुछ और कदम उठाकर यह भी सुनिश्चित करनी चाहिए कि भविष्य में कालेधन का निर्माण न हो सके. किसानों के बीच कार्य करने वाले भारतीय किसान संघ ने भी सरकार के कदम की सराहना की है.

भारतीय किसान संघ के राष्ट्रीय महासचिव बद्री नारायण चौधरी ने कहा कि नोटबंदी के कदम का हम स्वागत करते हैं. इससे कालेधन पर लगाम कसेगी. किसान और गरीब सरकार के इस कदम से बेहद खुश हैं.

गौरतलब है कि इससे पहले संघ प्रमुख मोहन भागवत ने भी स्वयं मोदी सरकार के कदम का स्वागत किया था.

बताया जा रहा है कि संघ के स्वयं सेवक सोशल मीड़िया पर नोटबंदी के पक्ष में मैदान संभालने के अलावा कई स्थानीय इलाकों में पहुंचकर बैंकों की कतार में खड़े लोगों को पानी और बिस्कुट दे रहे हैं.

First published: 17 November 2016, 12:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी